Maharashtra News: महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट के बीच उद्धव सरकार ने हिंदुत्व कार्ड चला। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने औरंगाबाद और उस्मानाबाद के नाम बदलने को मंजूदी दी है। अब औरंगाबाद को संभाजी नगर और उस्मानाबाद को धाराशिव के नाम से जाना जाएगा। औरंगाबाद का नाम बदलने की मांग शिवसेना लंबे वक्त से करती आ रही थी। पार्टी नेता और सीएम ठाकरे कई बाद औरंगाबाद को संभाजी नगर कहकर संबोधित कर चुके हैं। वहीं उस्मानाबाद का नाम धाराशिव की मांग भी शिवसेना की थी।

नवी मुंबई हवाई अड्डा ने नाम बदलने पर मंजूरी

संकट में घिरे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई बैठक में नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नामकरण किसान नेता दिवंगत डीबी पाटिल के नाम पर रखने को मंजूरी दी गई। बता दें प्रदेश की योजना एजेंसी CIDCO ने हवाई अड्डे का नाम शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा था।

कांग्रेस ने की मांग

कांग्रेस ने बैठक में मांग की कि पुणे शहर का नाम छत्रपति शिवाजी महाराज की माता के नाम पर जिजाऊ नगर रखा जाएं। इसके अलावा पार्टी ने नवी मुंबई में सेवरी और न्हावा शेवा के बीच ट्रांस हार्बर लिंक का नाम स्वर्गीय सीएम ए आर अंतुले के नाम पर रखने की मांग की थी।

नाम बदलने पर जताई असहमति

महाराष्ट्र में सपा विधायक अबू आसिम आजमी ने उद्धव सरकार के फैसला पर असहमति जताई है। उन्होंने कहा कि भाजपा हो या एमवीए जो बैसाखी पर चल रहा है। मुसलमानों को दरकिनार करना चाहता है। उन्होंने कहा, मुझे दुख है कि हम जिनका समर्थन कर रहे हैं। जिन्होंने कहा था 30 साल गलत लोगों के साथ रहने के बाद अब वे धर्मनिरपेक्ष होंगे। आखिरी दिन ऐसा कर रहे हैं।

Posted By:

  • Font Size
  • Close