मुंबई। भाजपा नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चुने गए हैं। इसकी घोषणा नवनिर्वाचित स्पीकर नाना पटोले ने दोनों पक्षों के सदस्यों की मेजों की थपथपाहट के बीच की। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, जयंत पाटिल, एकनाथ शिंदे , बालासाहेब थोरात ने फड़नवीस के निर्वाचन पर उन्हें बधाई दी। फड़नवीस 1999 से लगातार पांचवीं बार नागपुर से विधायक चुने गए हैं। एक सप्‍ताह पहले एक बेहद नाटकीय घटनाक्रम के तहत उन्‍होंने दूसरी बार महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली थी। हालांकि इसके बाद उन्‍होंने बहुमत ना होने का हवाला देते हुए पद से इस्‍तीफा दे दिया था। उनके बाद उद्धव ठाकरे मुख्‍यमंत्री बने और उन्‍होंने बहुमत परीक्षण पूरा कर लिया है।

ठाकरे ने कसा तंज, कहा- मैंने कभी नहीं कहा फिर आऊंगा

मुख्यमंत्री ठाकरे ने देवेंद्र फड़नवीस के नेता प्रतिपक्ष चुने जाने पर तंज भरी बधाई दी। उन्होंने कहा- 'मैंने कभी नहीं कहा कि फिर आऊंगा लेकिन मैं इस सदन में आ गया।" मालूम हो कि चुनाव प्रचार के दौरान फड़नवीस ने 'मी पुन्हा येऊन" (मैं फिर आऊंगा) का नारा दिया था। उस बात को लेकर सोशल मीडिया में कई मीम्स भी आए।

ठाकरे ने फड़नवीस को अपना दोस्त बताते हुए कहा कि वह उन्हें विपक्ष के नेता के रूप में नहीं देखते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा- 'मैं इस सदन तथा महाराष्ट्र की जनता को आश्वस्त करता हूं कि मैं आधी रात को कुछ नहीं करूंगा। मैं लोगों के हित में काम करूंगा।" उनका आक्षेप 23 नवंबर को फड़नवीस के अप्रत्याशित रूप से मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने को लेकर था। ठाकरे ने किसानों की परेशानियां कम करने की सदन से अपील करते हुए कहा कि इस सरकार का मकसद किसानों की सिर्फ कर्जमाफी नहीं है बल्कि उनकी चिंताओं को भी कम करना है।

Posted By: Navodit Saktawat

fantasy cricket
fantasy cricket