Maharashtra News: महाराष्ट्र के नासिक जिले में एक मुस्लिम आध्यात्मिक धर्मगुरु की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। 35 साल के धर्मगुरु महाराष्ट्र में नासिक जिले के येवला कस्बे में रहते थे। वे अफगानिस्तान के रहने वाले थे। जानकारी के मुताबिक मंगलवार को चार अज्ञात लोगों ने आकर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी है। पुलिस को अभी हत्या के कारणों का पता नहीं चला है। ये आध्यात्मिक गुरु सूफी बाबा के नाम से जाने जाते थे। पुलिस ने थाने में हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस हत्यारों को पकड़ने के लिए लगातार छानबीन कर रही है। आरोपियों की तलाश के लिए उस इलाके के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। पुलिस को संदेह है कि किसी नजदीकी ने ही सूफी संत की हत्या की है।

धर्मगुरु को सिर में मारी थी गोली

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह घटना मुंबई से करीब 200 किलोमीटर दूर येवला कस्बे के एमआईडीसी इलाके की है। इस कस्बे के एक खुले भूखंड में मंगलवार की शाम 35 साल के अफगानिस्तानी नागरिक ख्वाजा सैयद चिश्ती को सिर में गोली मारकर हत्या कर दी है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक मृतक की पहचान ख्वाजा सैयद चिश्ती के तौर पर की गई है। जिन्हें येवला कस्बे में सूफी बाबा के नाम से जाना जाता था।

अज्ञात लोगों ने की सूफी बाबा की हत्या

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक हमलावर आए और सूफी बाबा को गोली मारकर चले गए। इसके साथ ही वे उनकी एसयूवी गाड़ी लेकर मौके से भाग गए। घटना की सूचना मिलते ही नासिक के येवला सिटी पुलिस थाने से भगवान माथुरे सहित अन्य पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। वे मुस्लिम धर्मगुरु को जख्मी हालत में सरकारी उप जिला अस्पताल लेके गए। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। एजेंसी के मुताबिक पुलिस ने बताया कि मृतक ख्वाजा सैय्यद चिश्ती अफगानिस्तान से ताल्लुक रखते थे। उन्हें येवला में सूफी बाबा के नाम से जाना जाता था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमलावरों ने उनके सिर पर गोली मारी है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close