Maharashtra Political Crisis: विधान परिषद के नतीजे आने के बाद एकनाथ शिंदे के विद्रोह ने महाराष्ट्र की राजनीति में शिवसेना को बड़ा झटका दिया। शिंद के साथ 40 से अधिक विधायकों के विद्रोह के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पार्टी के भीतर से चुनौती दी गई। एकनाथ शिंदे के इस कदम ने राज्य में महाविकास अघाड़ी सरकार के लिए खतरा पैदा कर दिया। सत्तारूढ़ शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी इन सभी घटनाओं में बीजेपी के शामिल होने का आरोप लगा रही है।

शिंदे ने किया ये दावा

इस बीच एकनाथ शिंदे का बागी विधायकों के साथ नया वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में बागी एमएलए सर्वसम्मति से ऐलान कर रहे हैं कि वे एकनाथ शिंदे को नेता बना रहे है। उसके बाद शिंदे ने कहा कि सुख-दुख में हम सब एक है। कुछ भी हो हम सब मिलकर आगे बढ़ेंगे, जीत हमारी है। उन्होंने कहा, 'एक राष्ट्रीय पार्टी जो महाशक्ति है। उस पार्टी ने मुझसे कहा है कि आपने जो भी निर्णय लिया है, वह ऐतिहासिक है। हमें सुनिश्चित किया है कि जो भी मदद की जरूरत है, वह की जाएगी।'

हम इस संकट को हरा देंगे

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार अल्पमत में है या नहीं विधानसभा में स्थापित होना है। जब प्रक्रियाओं का पालन किया जाएगा तो यह साबित हो जाएगा कि यह सरकार बहुमत में है। उन्होंने कहा, हमने कई बार महाराष्ट्र में ऐसे हालात देखे हैं। मैं अपने अनुभव से कह सकता हूं कि हम इस संकट को हरा देंगे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में सरकार सुचारू रूप से चलेगी। महा विकास अघाड़ी ने ठाकरे को समर्थन देने का फैसला किया है। मेरा मानना है कि एक बार शिवसेना विधायक मुंबई लौट आएंगे तो स्थिति बदल जाएगी।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close