भारत और चीन के बीच हुए हिंसक संघर्ष के बाद Line of Actual Control पर तनाव बरकरार है। इस बीच हालातों को नियंत्रण में करने के लिए दोनों देशों के मेजर जनरल लेवल के अधिकारियों की मीटिंग गुरुवार को भी हो रही है। इसके पूर्व बुधवार को हुई बैठक बेनतीजा रही थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पहले की बैठक में भारतीय सैन्य अधिकारियों ने चीनी अधिकारियों को साफ कर दिया था कि उन्हें हर हाल में भारती की जमीन से पीछे हटना होगा। बता दें कि 15 जून को हुई हिंसक झड़प के पहले भी कई बार दोनों देशों के बीच बैठकों का दौर चला था। इसमें यह भी कहा गया था कि चीन पीछे हटने को तैयार हो गया है। फिलहाल जारी मीटिंग पर दोनों देशों के साथ ही दुनिया की भी नजर बनी हुई है।

रक्षा मंत्री ने बुलाई बैठक

LAC पर बढ़े तनाव के बाद बुधवार को ही सरकार ने तीनों सेनाओं को अलर्ट पर रहने का कहा था। आज भी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई है जिसमें तीनों सेनाओं के प्रमुख शामिल हुए हैं।

बुधवार को भारत-चीन बैठक रही थी बेनतीजा

गलवान में हुई हिंसक झड़प के बाद बुधवार को दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के साथ हुई बैठक बेनतीजा रही थी। इस हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए वहीं चीन के 40 से ज्यादा सैनिकों के मारे जाने की खबरें सामने आई थीं। सूत्रों के अनुसार बुधवार को हुई बैठक में भारत ने नाराजगी जताते हुए कई मुद्दे भी उठाए।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस