Pm Modi Mamta Meet: आज दिल्ली में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी की मुलाकात की। माना जा रहा है कि इस मुलाकात में ममता बनर्जी ने राज्य के वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के बकाये सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। दिल्ली दौरे में ममता बनर्जी के एजेंडे में कई कार्यक्रम शामिल हैं। ममता बनर्जी सात अगस्त को नीति आयोग की बैठक में शामिल होंगी। इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री मोदी करेंगे, जिसमें कृषि, स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी।

ममता बनर्जी की पीएम से मुलाकात को लेकर कयासों का बाजार गर्म है। इसकी वजह ये है कि इस वक्त ममता बनर्जी के एक मंत्री ईडी की गिरफ्त में हैं। करोड़ों के अवैध लेन-देन और भ्रष्टाचार के मामले में पार्थ चटर्जी टीएमसी के कई और मंत्रियों और नेता के नाम ले सकते हैं। अगर पैसों का लेन-देन पार्टी फंड में होना साबित हुआ, तो ममता बनर्जी की भी मुसीबत बढ़ सकती है। ऐसे में पीएम मोदी से उनकी मुलाकात के कई मायने लगाये जा रहे हैं।

पूर्व राज्यपाल की सलाह

बंगाल भाजपा के सीनियर नेता और पूर्व राज्यपाल रहे तथागत रॉय ने पीएम नरेंद्र मोदी को एक सलाह दी है। उन्होंने पीएम मोदी से कहा है कि उन्हें जनता को ये साफ तौर पर समझाना चाहिए कि उनकी ममता बनर्जी से कोई सीक्रेट अंडरस्टैंडिंग नहीं है और टीएमसी के भ्रष्ट नेताओं के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने इस बारे में एक ट्वीट भी किया।

इससे पहले बंगाल भाजपा के सीनियर नेता दिलीप घोष ने कहा था कि ममता बनर्जी इसलिए पीएम मोदी से मिलने वाली हैं कि लोगों को संदेश दे सकें कि उनकी सेटिंग हो गई है। घोष ने भी केंद्र सरकार को सलाह देते हुए कहा था, 'ममता बनर्जी इन मीटिंगों का इस्तेमाल यह संदेश देने के लिए कर रही हैं कि सेटिंग हो चुकी है। केंद्र सरकार को यह समझना चाहिए और उनके जाल में नहीं फंसना चाहिए।' टीएमसी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि भाजपा के लोग गलत आरोप लगा रहे हैं।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close