कोलकाता। चिटफंड घोटाले की जांच को लेकर सीबीआइ व बंगाल सरकार के बीच जारी घमासान सुप्रीम कोर्ट पहुंचने के बाद कोर्ट ने पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पूछताछ करने का निर्देश दिया है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सीबीआई के नव नियुक्त निदेशक ऋषिकुमार शुक्ला ने देश के विभिन्न हिस्सों से 10 अधिकारियों को लेकर जांच के लिए एक विशेष टीम का गठन किया है।

जानकारी के मुताबिक इस टीम में एक पुलिस अधीक्षक, तीन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, तीन डीएसपी और तीन इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारियों को शामिल किया गया है। तटस्थता बनाए रखने के लिए अलग-अलग राज्यों से अधिकारियों को लेकर टीम का गठन किया गया है। यह विशेष टीम चिटफंड घोटाले की जांच का नेतृत्व करेगी।

सूत्रों के अनुसार सीबीआइ की विशेष टीम शिलांग में कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पुछताछ करेगी। विशेष जांच टीम शुक्रवार को कोलकाता पहुंचेगी, जो 20 फरवरी तक कोलकाता में रहकर पूरे मामले की जांच करेगी। इस बारे में सीबीआइ ने पत्र के माध्यम से राज्य सरकार को इसकी जानकारी दी है।

इस बीच, कोलकाता पुलिस आयुक्त ने सीबीआइ को बताया कि उन्हें आठ फरवरी को शिलांग में केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारियों के समक्ष पेश होने में कोई समस्या नहीं है। घोटाले के सभी अभियुक्तों को किया जा सकता है। तलब सूत्रों ने बताया कि इस दौरान सारधा और रोजवैली समेत अन्य चिटफंड घोटाला मामले के सभी अभियुक्तों को पूछताछ के लिए तलब किया जा सकता है।

दिल्ली में सीबीआइ निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला और विशेष टीम के बीच हुई बैठक में एक सूची तैयार की गई है, जिसमें विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के नाम शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक उस सूची में शामिल दो अभियुक्त को जल्द ही तलब किया जा सकता है।

Posted By: