रांची। यह अंधविश्वास की हद है। झारखंड में समय पर बारिश होने और अच्छी पैदावार के लिए नर-बलि दिए जाने का मामला सामने आया है।

पुलिस के मुताबिक, तांत्रिकों ने 55 वर्षीय आदिवासी शख्स की हत्या कर दी।

रांची से 130 किमी दूर गुमला जिले के खरवाढ़िह-कदामदोहर गांव में थेरपा खरिया का शव मिला। उसका सिर कलम कर दिया गया था।


खरिया के परिजन ने पुलिस को बताया, उसकी हत्या ओरकस या मुंडकटवा ने की है। ये तांत्रिकों के समूहों के नाम हैं जो अच्छी बारिश और उपज के लिए इनसानों के सिर जमीन में गाढ़ते हैं।


पुलिस के मुताबिक, खरिया घर में अकेला था, तभी आरोपी तांत्रिकों ने उसकी हत्या कर दी और सिर अपने साथ ले गए।

पलखोट पुलिस थाने के इंचार्ज अजय कुमार ठाकुर का कहना है कि खरिया की हत्या रविवार सुबह की गई। वह अकेला रहता था।

यह भी पढ़ें : भारत में भीषण सूखा पड़ने की आशंका

एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मालूम हो, इस साल झारखंड में भी जबरदस्त गर्मी पड़ी है। प्रदेश के अधिकांश हिस्से में तापमान 47 डिग्री तक पहुंच गया है।

मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि जून के पहले हफ्ते से पहले राहत की उम्मीद नहीं है।

यह भी पढ़ें : 3-4 दिन में बन रहे बारिश के आसार

Posted By:

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close