मल्टीमीडिया डेस्क। कई लोगों को अपनी पढ़ाई-लिखाई पर गर्व होता है, लेकिन जहां तक डिग्रियां और उपाधियां हासिल करने की बात है, लगता है कि डॉ. लक्ष्मीदासन से बढ़ कर कोई नहीं। इस शख्स को लेकर कहा जा रहा है कि इसकी ज्ञान अर्जित करने की भूख शांत ही नहीं हो रही है।

लक्ष्मीदासन का प्रोफाइल सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कमेंट किए जा रहे हैं कि यदि किसी को अपने ज्ञान पर घमंड हो तो लक्ष्मीदासन का बायोडाटा देख ले। एक नजर सोशल मीडिया पर चल रहे इस प्रोफाइल की खास बातों पर -

- इंटरनेट पर लक्ष्मीदासन के बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है। हालांकि यू-ट्यूब पर उनका एक इंटरव्यू जरूर है, जिसमें वे दक्षिण भारतीय भाषा में बात करते नजर आ रहे हैं।

- इस वीडियों के कैप्शन में लिखा गया है कि लक्ष्मीदासन ने 35 मास्टर्स डिग्री हासिल कर ली हैं। इसके अलावा, 6 डॉक्टरेट और 1 डिलीट भी है।

- उनके पास 2 पीजी डिप्लोमा और 4 बैचरल डिग्रियां हैं।

-बतौर एस्ट्रोलॉजर लक्ष्मीदासन के कुछ आर्टिकल भी अंग्रेजी के प्रतिष्ठित अखबारों में प्रकाशित हुए हैं। कहीं-कहीं उन्होंने मोदी सरकार के भविष्य पर भी टिप्पणी की है।

- 1968 में जन्में लक्ष्मीदासन केरल के रहने वाले हैं। परिवार में मां, पत्नी और दो बच्चे हैं।

- उन्होंने कई विषयों पर विशेषज्ञता हासिल की है। उन्होंने बतौर एडवोकेट, विजिटिंग प्रोफेसर, लेक्चरर, लेखक, कवि, नोवेलिस्ट, वक्ता, अनुवादक, आलोचक, रिसर्च गाइड, इतिहासकार, ज्योतिषाचार्य, दर्शनशास्त्री, पत्रकार, भाषाविद्, मनोविश्लेषक, समाज सेवक, बिजनेस एडवाइजर, एचआर एडवाइजर, टूरिस्ट एडवाइजर, पॉलिटिकल एडवाइजर, लीगर एडवाइजर, फायनेंशियल एडवाइजर सेवाएं दे चुके हैं।

- उन्होंने अलग-अलग विषयों पर छह पीएडी की हैं। इनमें हिन्दी, मैनेजमेंट, ज्योतिष, संस्कृत, शिक्षा और मलयालम के विषय शामिल हैं। लक्ष्मीदासन 21 किताबें लिख चुके हैं।

Posted By:

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close