मल्टीमीडिया डेस्क। कोरोना वायरस की वजह से लगे हुए लंबे लॉकडाउन के कारण देशभर में प्रवासी मजदूर काफी फजीहत का सामना कर रहे हैं। खाने-पीने से लेकर उनके सामने आब रहवास तक की समस्या है रही है. रोजी-रोटी का संकट सामने वह अलग। ऐसे में हर प्रवासी मजदूर की एक ही ख्वाहिश है कि वह जैसे- तैसे अपने घर पहुंच जाएं। ऐसे में इंडियन रेलवे के द्वारा चलाई गई स्पेशल ट्रेनों के जिए मजदूर अपने घरों को पहुंच रहे हैं।

लेकिन महाराष्ट्र से रवाना हुए मजदूरों को उस वक्त अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा जब उनकी ट्रेन उत्तर प्रदेश की जगह ओडिशा पहुंच गई। महाराष्ट्र से रवाना हुई इस ट्रेन को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर पहुचना था, लेकिन वह इसकी जगह ओडिशा के राउरकेला पहुंच गई। यह रेलवे द्वारा चलाई गई श्रमिक स्पेशल ट्रेन थी। इस मामले में प्रवासी मजदूरों का कहना है कि ट्रेन ड्राइवर के रास्ता भूलने की वजह से ऐसा हुआ है।

ट्रेन में सवार प्रवासी मजदूरों की सुबह जब आंख खुली तो वह हैरान रह गए क्योकि मुंबई से चली ट्रेन उनके घर से 750 किलोमीटर दूर ओडिशा के राउरकेला पहुंच गई, जबकि इस स्पेशल ट्रेन को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर पहुंचना था। यह स्पेशल ट्रेन मुमबई के वाशी से गुरुवार को रवाना हुई थी। इस मामले आक्रोशित मजदूरों का कहना था कि उन्होंने इस संबंध में अधिकारियों का बताया था कि ट्रेन का ड्राइवर किसी गलतफहमी की वजह से रास्ता भूल गया है और इस वजह से ट्रेन गोरखपुर की जगह राउरकेला पहुंच गई। लेकिन रेलवे ने ऐसी किसी भी बात से साफ इंकार किया है और कहा है कि यह सुनियोजित प्लान के तहत किया गया है। रेलवे के मुताबिक कुछ बिहार जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के रुट को भारी ट्रैफिक की वजह से डाइवर्ट किया गया है।

लेकिन सवाल इस बात पर उठाए जा रहे हैं कि इस बात की सूचना ट्रेन में सफर कर रहे प्रवासी मजदूरों को क्यों नहीं दी गई। फिलहाल यहां पर फंसे हुए श्रमिक खुद को असहाय पा रहे हैं और रेलवे के अगले कदम का इंतजार कर रहे हैं।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना