नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों के लिए राष्ट्रीय राजधानी में रात्रिभोज का आयोजन किया। पीएम मोदी के इस रात्रिभोज में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव नहीं पहुंचे। इनके अलावा तृणमूल कांग्रेस, सीपीएम, सीपीआई, बसपा और लालू यादव की पार्टी राजद के सदस्यों ने भी इस आयोजन से दूर बनाई रखी। रात्रिभोज के लिए दोनों सदनों के लगभग 750 सदस्यों को संसदीय कार्य मंत्री की ओर से आमंत्रण भेजा गया था। रात्रिभोज में केवल शाकाहारी भोजन की व्यवस्था की गई।

होटल अशोक में आयोजित इस रात्रिभोज में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद के अलावा एनडीए और यूपीए के घटक दलों के विभिन्न नेता शामिल हुए। इनमें द्रमुक की कनिमोरी, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह, भाजपा में शामिल हुए टीडीपी के तीन सांसद वाईएस चौधरी, सीएम रमेश और टीजी वेंकटेश भी शामिल थे।

बाद में भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी ने जानकारी दी कि रात्रिभोज में माहौल बेहद सौहार्दपूर्ण था। सांसद प्रधानमंत्री से अनौपचारिकरूप से मिल रहे थे और उनके साथ सेल्फी ले रहे थे। रात्रिभोज के दौरान प्रधानमंत्री ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की तारीफ की।

बता दें कि संसद का सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को आहूत सर्वदलीय बैठक में कहा था कि जनहित के मुद्दों पर राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार कर विचार-विमर्श किया जाना चाहिए।

Posted By: Neeraj Vyas