मोदी सरकार द्वारा बैंक खातों में 15-15 लाख रुपए डाले जाने की अफवाह के बाद बैंकों के बाहर भीड़ जमा हो गई। यह घटना केरल के मुन्नार में घटी। सोशल मीडिया पर एक मैसेज तेजी से वायरल हुआ कि मोदी सरकार द्वारा बैंक खाताधारकों के अकाउंट में 15-15 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए गए हैं, ऐसे में लोग कामधंधा छोड़कर बैंकों के बाहर असलियत जानने के लिए पहुंच गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस अफवाह के फैलने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। आर्थिक तौर पर कमजोर लोग बैंकों में नया खाता खुलाने भी पहुंच गए जिससे मोदी सरकार उनके बैंक अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर सके।

यह पहला मौका नहीं है, इससे पहले भी इस तरह की अफवाह केरल में फैल चुकी है। सोशल मीडिया पर खबर फैलने के बाद बैंकों में भीड़ लगना शुरू हो गई। लोगों ने अपना रुटीन काम छोड़कर सबसे पहले इस बात सच्चाई जानने के लिए बैंक पहुंचना शुरू कर दिया।

झूठी खबर होने पर निराश हुए लोग

सामने आई खबरों के मुताबिक आग की तरह यह अफवाह फैल गई कि उनके बैंक अकाउंट में बड़ी राशि जमा हो गई है। इसके बाद लोग रात में ही बैंकों को खुलवाने के लिए पहुंच गए। जब बात नहीं बनी तो कुछ लोग तो बिस्तर भी साथ लेकर रात गुजराने की तैयारी करने लगे। हालांकि जब इस घटना की असलियत सामने आई कि यह पूरी तरह झूठ है और सोशल मीडिया पर इसकी अफवाह उड़ी है तो लोग निराश हो गए। बतातें है कि इस अफवाह के फैलने के बाद बीते तीन दिनों में इलाके में 1050 से ज्यादा नए अकाउंट खुल गए हैं।

मोदी सरकार ने किया था वादा

2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने लोगों से वादा किया था कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो विदेशों से काला धन लाया जाएगा और हर भारतीय के बैंक खाते में 15-15 लाख रुपए जमा किए जाएंगे। इसे लेकर विपक्ष भी कई बार सरकार पर हमलावर हो चुका है। वहीं इसी घोषणा को आधार बनाते हुए किसी ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने का काम किया।

Posted By: Neeraj Vyas