कहते हैं मारने वाले से बचाने वाला बड़ा होता है। ऐसी ही एक घटना तमिलनाडु के तिरुची में सामने आई है। यहां एक महिला आत्महत्या करने के लिए अपनी 9 महीने की बेटी के साथ 30 फीट गहरे कुएं में कूद गई, लेकिन फायर ब्रिगेड की टीम ने दोनों को सकुशल कुएं से बाहर निकाल लिया। यह घटना गुरुवार को घटी जब सुभ्रमण्यपुरम में रहने वाली एक महिला ने बेटी को साथ लेकर कुएं में छलांग लगा दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 30 साल की मैथिली ने अपने पति बालकृष्णन के साथ हुए विवाद के बाद यह आत्मघाती कदम उठाया था, हालांकि गनीमत रही कि वक्त रहते इसका पता लगने से उनकी मदद हो सकी। घटना रात 2.30 की बताई जा रही है।

मैथिली के पति बालकृष्णन ने पत्नी के बेटी के साथ कुएं में कूदने की जानकारी तत्काल फायर एंड रेस्क्यू टीम को दी। सूचना मिलने के 10 मिनट के भीतर ही टीम मौके पर पहुंच गई थी। इसके बाद ताबड़तोड़ रेस्क्यू वर्क करते हुए मां बेटी को कुएं से बाहर निकाल लिया गया।

स्टेशन ऑफिसर मेलछियो राजा का कहना है 'फायरकर्मी माइकल कुएं में उतरा और पहले बच्ची को बाहर लाया। किसी कंगारु की तरह उसने बच्ची को सीने से लगा रखा था। बाद में हमने कुएं में सीढ़ी लगाई और मां को भी बाहर निकाल लिया।'

कुएं में कूदने के बाद भी दोनों के बचने के सवाल को लेकर स्टेशन ऑफिसर ने कहा 'कुआं 30 फीट गहरा था लेकिन उसमें सिर्फ 5 फीट पानी था। इस वजह से कुएं में कूदने के बावजूद उन्हें चोट नहीं लगी। मां ने बच्ची को मजबूती से पकड़ रखा था, कूदने के बाद उसने आत्महत्या का विचार त्याग दिया था। इस वजह से दोनों को कुछ नहीं हुआ।'

Posted By: Neeraj Vyas

fantasy cricket
fantasy cricket