नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में फायरिंग की घटना से मचे बवाल के बीच राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (एनसीएसटी) ने पीड़ितों से मिलने उम्भा गांव जाने की अपनी प्रस्तावित योजना स्थगित कर दी है। जनजातीय मामलों के मंत्रालय द्वारा रविवार को जारी बयान में कहा गया है, 'मौजूदा हालात को ध्यान में रखते हुए, एनसीएसटी के अध्यक्ष डॉ. नंद कुमार राय की आयोग की टीम के साथ जमीन विवाद में अनुसूचित जनजाति के 10 लोगों की हत्या के संबंध में 22 जुलाई, 2019 को उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के उम्भा गांव जाने के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है।'

एससी,एसटी के उत्पीड़न पर चर्चा के लिए नोटिस : अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के खिलाफ हाल की ज्यादती की घटनाओं पर राज्यसभा में नियम 267 के तहत चर्चा के लिए तृणमूल कांग्र्रेस के सदस्यों ने नोटिस दिया है। तृणमूल सांसद डेरेक ओ ब्रायन के नेतृत्व में पीड़ितों से मिलने सोनभद्र जा रहे तृणमूल के तीन सदस्यीय दल को वाराणसी एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद पार्टी के सदस्यों ने यह नोटिस दिया है।

पार्टी के सदस्यों को रोके जाने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल की प्रमुख ममता बनर्जी ने भाजपा पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने तो राज्य के हिंसा प्रभावित भाटापारा का दौरा किया था, अब उनकी पार्टी के सदस्यों को सोनभद्र जाने से रोका जा रहा है।

Posted By: Arvind Dubey

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close