लखनऊ ब्‍यूरो। बेटे को अपनाने में भले ही दशक लग गए हों लेकिन एनडी तिवारी ने तनिक भी देरी किए बिना वैदिक रीति से शादी करने के हफ्ते भर भीतर शादी का पंजीकरण करा लिया।

सोमवार की सुबह पूर्व मुख्यमंत्री अपनी पत्नी डॉ. उज्ज्वला शर्मा का हाथ थामकर रजिस्ट्रार दफ्तर की सीढ़ियां चढ़े और शादी पर कानूनी मुहर लगा ली। प्रक्रिया में तकरीबन आधा घंटा का समय लगा। प्रमाण पत्र लेकर तिवारी काफी देर तक अपनी पत्नी को निहारते रहे और आश्वस्त होने के बाद वापस लौटे।

एनडी तिवारी ने उज्ज्वला शर्मा के साथ बुधवार की रात सात फेरे लिए। शादी को कानूनी मान्यता के लिए उन्होंने सोमवार का दिन चुना। पूर्वाह्न तकरीबन 10:40 बजे वह उज्ज्वला, ओएसडी अरुण शुक्ला, पूर्व ओएसडी रामपाल शर्मा और वकीलों के साथ कैसरबाग स्थित रजिस्ट्रार कार्यालय पहुंचे।

एक हाथ पकड़कर ओएसडी सहारा दे रहे थे तो दूसरा हाथ पत्नी ने थाम रखा था। वह रजिस्ट्रार कार्यालय के प्रथम तल पर उपनिबंधक (सब रजिस्ट्रार) जोन-एक बीसी सिंह के यहां पहुंचे। यहां तकरीबन 25 मिनट कानूनी प्रक्रिया पूरी की गई।

हिंदू मैरिज एक्ट के तहत पंजीकरण कराने में पूर्व और वर्तमान ओएसडी गवाह बने। प्रक्रिया पूरी होने के बाद सहायक महानिरीक्षक निबंधक ओपी सिंह ने इनको प्रमाण पत्र सौंपा।

अब निश्चिंत हूं : उज्ज्वला

अपने विरोधियों से परेशान चल रहीं एनडी तिवारी की नवब्याहता उज्ज्वला शर्मा अब निश्चिंत हैं। शादी का पंजीकरण कराने के बाद उन्होंने पत्रकारों से अपनी संतुष्टि का इजहार किया।

दूसरी ओर एनडी तिवारी ने भी रजामंदी से शादी करने की बात कबूल करते हुए कहा कि कानूनी रूप से पंजीकरण कराना भी जरूरी हो गया था।

गौरतलब है कि एक अखबार में खबर छपी थी कि उज्ज्वला ने एनडी तिवारी से जोर-जबरदस्ती कर विवाह किया है। इसके बाद ही उज्ज्वला ने शादी पंजीकृत करवाने का फैसला लिया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना