New Rule in June। जून माह से कुछ नए नियम लागू होने वाले हैं, जो सीधे आपकी जेब पर असर डालेंगे। ऐसे में इन नए नियमों के बारे में सभी को जानकारी जरूर होना चाहिए। 1 जून से भारतीय स्टेट बैंक के होम लोन लेने वालों, एक्सिस बैंक और इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के ग्राहकों, वाहन चालकों के जेब पर असर होने वाला है। यहां जानें विस्तार से -

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI)

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क लैंडिंग रेट को 40 बेसिस प्वाइंट बढ़ाकर 7.05 फीसदी कर दिया है, जबकि आरएलएलआर 6.65 फीसदी प्लस सीआरपी होगा। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने जानकारी दी है कि बढ़ी हुई ब्याज दरें 1 जून, 2022 से प्रभावी होंगी।

महंगा होगा थर्ड पार्टी इंश्योरेंस

सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने निजी कारों के लिए थर्ड पार्टी बीमा प्रीमियम में बढ़ोतरी का ऐलान किया है। 1000 सीसी और 1500 सीसी के बीच इंजन क्षमता वाली निजी कारों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को 2019-20 में 3,221 रुपए से बढ़ाकर 3,416 रुपए कर दिया गया है।

गोल्ड हॉलमार्किंग

1 जून, 2022 से हॉलमार्किंग का दूसरा चरण लागू होगा, जिससे देश के 256 जिलों और एसेइंग एंड हॉलमार्किंग केंद्रों (AHC) द्वारा कवर किए गए 32 नए जिलों में सोने के आभूषणों की हॉलमार्किंग अनिवार्य हो जाएगी। 288 जिलों में केवल 14, 18, 20, 22, 23 और 24 कैरेट वजन के सोने के आभूषण और एंटीक्विटीज ही बेची जाएंगी

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) ने जानकारी दी है कि आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) के लिए जारीकर्ता शुल्क 15 जून, 2022 को लागू किया जाएगा। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक भारतीय डाक की एक सहायक कंपनी है। हर महीने पहले 3 एईपीएस लेनदेन मुफ्त होंगे, जिसमें एईपीएस नकद निकासी, एईपीएस नकद जमा और एईपीएस मिनी स्टेटमेंट शामिल हैं।

एक्सिस बैंक

एक्सिस बैंक ने भी अर्ध-शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों में ईजी सेविंग्स के लिए औसत मासिक बैलेंस को 15,000 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रुपये या 1 लाख रुपए की सावधि जमा तक कर दिया है। इसके अलावा लिबर्टी सेविंग अकाउंट के लिए आवश्यक बैलेंस 15,000 रुपए से बढ़ाकर 25,000 रुपये कर दिया है। एक्सिस बैंक ने भी ये नया टैरिफ 1 जून 2022 से लागू करने वाला है।

गैस सिलेंडर

हर महीने की पहली तारीख को गैस सिलेंडर की कीमतों की भी समीक्षा की जाती है। इसलिए 1 जून से रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में बढ़ोतरी, कटौती के अलावा यथास्थिति बरकरार रहने की भी संभावना है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close