कोलकाता। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की टीम ने दो लाख रुपये के मादक पदार्थ के साथ एक नाइजीरियाई महिला और 4.7 किलोग्राम अफीम के साथ एक अन्य तस्कर को क्रमशः एयरपोर्ट और जलपाईगुड़ी

रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया है। यह जानकारी एनसीबी के कोलकाता के क्षेत्रीय निदेशक दिलीप श्रीवास्तव ने दी।

उन्होंने बताया कि पहली गिरफ्तारी दमदम हवाईअड्डे पर सोमवार रात 9.20 बजे हुई।

जेट एयरवेज की फ्लाइट से मुंबई से कोलकाता पहुंची नाइजीरियाई महिला डेविड ब्लेसिंग (30) को गुप्त सूचना के आधार पर रोककर एनसीबी की टीम ने तलाशी ली।

जांच में उसके बैग से एलएसडी जैसे महंगे ड्रग्स बरामद हुए। उसके पास और अधिक मादक पदार्थ की मौजूदगी की सूचना होने के कारण उसे एक्सरे मशीन के जरिये स्कैन किया गया तो उसके पेट व गर्भाशय में भी मादक पदार्थों की मौजूदगी की पुष्टि हुई।

उसे तुरंत गिरफ्तार कर एनसीबी कार्यालय लाया गया जहां महिला जांच अधिकारियों की मौजूदगी में उसने अपने गर्भाशय से 12 ग्र्राम कोकीन निकाला। उसी रात उसे चार्नक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

वहां अत्याधुनिक यंत्रों के जरिये ड्रग्स को निकालने की कोशिश की गई। उसने प्राथमिक पूछताछ में बताया है कि कोलकाता में इन मादक पदार्थों को वह तस्करी के लिए ही लेकर आई थी।

जांच एजेंसियों को चकमा देने के लिए उसने इन्हें प्राइवेट पार्ट में छिपाया था। अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने गर्भाशय से रैपिंग पेपर निकाला है।

उसके पास से बरामद ड्रग्स की कीमत करीब दो लाख रुपये है। इस बारे में दिलीप ने बताया कि वह पिछले चार वर्षों से मुंबई में रहकर यही काम कर रही थी।

सबसे पहले 2014 में वह छात्र वीजा के जरिये भारत आई थी। उसके बाद वह लगातार मुंबई में रह रही थी। बाद में उसने अपना छात्र वीजा बदलवाकर कारोबार वीजा करवा लिया है जो अभी भी जनवरी, 2019 तक वैध है।

जलपाईगुड़ी स्टेशन पर पकड़ा गया 25 लाख का सर्प विष

एक दूसरी छापेमारी में एनसीबी की टीम ने आरपीएफ (रेलवे सुरक्षा बल)अधिकारियों के साथ मिलकर जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन से 25 लाख रुपये के अफीम के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है।

उसकी पहचान जलपाईगुड़ी (पश्चिम बंगाल) के ही निवासी रंजीत पाल (43) के रूप में हुई है। उसके पास से बरामद अफीम का वजन 4.7 किलोग्राम है।

Posted By: