लखनऊ। श्रावण के शुभ माह के दौरान होने वाली कांवर यात्रा को कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए इस साल निलंबित रखा जाएगा। यह जानकारी शनिवार को जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में दी गई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हरियाणा के मुख्यमंत्री एम एल खट्टर और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में श्रावण में वार्षिक कांवर यात्रा के मुद्दे पर चर्चा की।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि धार्मिक गुरुओं और कांवर संघों ने अपने-अपने राज्यों में Covid​​-19 के मद्देनजर यात्रा स्थगित करने का प्रस्ताव किया है। उन्होंने कहा कि जनहित में कांवरियों ने यह फैसला लिया। योगी आदित्यनाथ ने सभी पुलिस आईजी और आयुक्तों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी की और उन्हें इस संबंध में धार्मिक नेताओं, कांवर संघों, शांति समितियों के साथ बातचीत करने और लोगों के बीच उनकी अपील को सार्वजनिक करने के लिए कहा।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने Covid​​-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही पांच से अधिक लोग स्थानीय मंदिरों में "जलाभिषेक" के लिए न जाएं और श्रद्धालुओं की सुरक्षा के सभी इंतजाम करने के लिए कहा गया है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि बकरीद के अवसर पर कोई भीड़ न हो।

उन्होंने सभी जिलों में धार्मिक नेताओं से संपर्क करने का निर्देश दिया है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बकरीद पर किसी भी धार्मिक स्थल पर पांच से अधिक लोग इकट्ठा न हों। विज्ञप्ति में कहा गया है कि सभी समुदायों के लोगों को महामारी के बीच मनाए जा रहे त्योहारों के बीच अपनाई जाने वाली सावधानियों से अवगत कराया जाना चाहिए।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags