श्रीनगर। हर शुक्रवार की नमाज के बाद कश्मीर घाटी में पाकिस्तान के झंडे दिखाए जाना आम बात हो गई है, लेकिन पहली बार ऐसा हुआ है कि मुंह पर कपड़ा बांधे युवा प्रदर्शनकारी चीन के झंडे लहराते नजर आए। सवाल उठ रहे हैं कि आखिर ऐसा क्यों? क्या अब तक पाकिस्तान से हमदर्दी रखने वाले इन चंद कश्मीरियों का अब नवाज शरीफ से भरोसा उठ गया है या गोवा में ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने आ रहे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का ध्यान आकर्षित करने के लिए ऐसा किया गया?

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते शुक्रवार को जूमे की नमाज के बाद कुछ लोग हाथों में चीन के झंडे लेकर निकले। कश्मीर के हालात पर नजर रखने वाले बता रहे हैं कि पहली बार ऐसा हुआ है।

मालूम हो, बुरहान वानी के खात्मे के बाद से कश्मीर घाटी में हिंसा भड़क गई है। हर रोज भारत और भारतीय सेना के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। ऐसे में अब चीन के झंडे दिखाए जाना भारत के लिए नई चिंता खड़ी कर सकता है।

चीन और पाकिस्तान का इकॉनोमिक कॉरिडोर पाक अधिकृत कश्मीर के कुछ हिस्से से लेकर गुजर रहा है। इसी क्रम में पहले खबरें आ चुकी हैं कि पाक अधिकृत कश्मीर में चीन सड़कें बना रहा है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना