Nupur Sharma Supreme Court। सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा कि उन्हें पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि उनकी बदजुबानी के कारण पूरे देश में आग लग गई। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए कुछ हद तक वही जिम्मेदार है, जहां एक टेलर कन्हैया लाल की हत्या कर दी गई थी। नूपुर शर्मा की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्होंने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांग ली है और अपने बयान को वापस ले लिया। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नूपूर शर्मा को TV पर जाकर देश से माफी मांगनी चाहिए थी।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि TV चैनल और नूपुर शर्मा को ऐसे मामले से जुड़े किसी भी एजेंडे को बढ़ावा नहीं देना चाहिए, जो कोर्ट में विचाराधीन है। नूपुर शर्मा की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्होंने टिप्पणी के लिए माफी मांगी और टिप्पणियों को वापस ले लिया, इस पर कोर्ट ने कहा कि उन्हें टीवी पर जाकर देश से माफी मांगनी चाहिए थी। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नूपुर शर्मा को माफी मांगने में और बयान वापस लेने में बहुत देर हो चुकी थी।

जैसा कि नूपुर शर्मा के वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्हें अपनी जान का खतरा है, जस्टिस सूर्यकांत का कहना है कि उन्हें खतरा है या वह सुरक्षा के लिए खतरा बन गई हैं? उन्होंने जिस तरह से पूरे देश में भावनाओं को भड़काया है, देश में जो हो रहा है उसके लिए वह अकेले ही जिम्मेदार हैं।

आपको बता दें कि भाजपा से निलंबित नेता नूपुर शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की थी कि पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी को लेकर अलग-अलग राज्यों में दर्ज मामलों को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए। नूपुर शर्मा ने कहा कि अलग-अलग राज्यों में जांच में सहयोग के लिए जा पाना संभव नहीं है।

गौरतलब है कि नूपुर शर्मा भाजपा प्रवक्ता रही हैं और हाल ही में TV डिबेट में पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ की गई टिप्पणी पर काफी विरोध हुआ था। कुवैत, यूएई, कतर समेत सहित कई मुस्लिम देशों ने नूपुर शर्मा के बयान की आलोचना की थी। इसके बाद नूपुर शर्मा को भाजपा से निलंबित कर दिया गया था।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close