Light Combat Helicopter: सोमवार को भारतीय सेना को उनका स्वदेशी लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर मिलने वाला है। जोधपुर में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी की मौजूदगी में इसे सेना में शामिल किया जाएगा। मिसाइल से लैस और दुश्मन को चकमा देने में माहिर इस हेलीकॉप्टर को खास तौर पर ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात करने के लिए डिजाइन किया गया है। सोमवार को भारतीय वायुसेना (IAF) देश में विकसित लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (LCH) को औपचारिक रूप से अपने बेड़े में शामिल करेगी। इससे वायुसेना की ताकत बढ़ेगी और विदेशी कलपुर्जों पर निर्भरता खत्म होगी। यह लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर कई मिसाइल दागने और हथियारों का इस्तेमाल करने में सक्षम है। आईये जानते हैं क्या है इसकी खासियतें :-

LCH की खासियत

1. इस हेलीकॉप्टर को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने विकसित किया है। इसमें दो लोगों के बैठने की क्षमता है और इसे खास तौर पर ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात करने के लिए डिजाइन किया गया है।

2. इस हेलीकॉप्टर की लंबाई 51.10 फीट और ऊंचाई 15.5 फीट है। इसका वजन 5.8 टन है। यह अधिकतम 268 किमी प्रतिघंटा की गति से उड़ सकता है और इसकी रेंज 550 किलोमीटर हैं। इसमें कई तरह की मिसाइलें और हथ‍ियार इसमें लगाए जा सकते हैं।

3. दो इंजन वाले इस हेलीकॉप्टर से कई हथियारों के इस्तेमाल का परीक्षण किया जा चुका है। इसमें राडार से बचने की विशेषता, बख्तर सुरक्षा प्रणाली, रात को हमला करने और आपात स्थिति में सुरक्षित उतरने की क्षमता है।

4. लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर(LCH) एक बार में लगातार 3 घंटे 10 मिनट तक उड़ सकता है और अधिकतम 6500 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है। इसमें अनगाइडेड बम और ग्रेनेड लॉन्चर लगाए जा सकते हैं। ये हेलीकॉप्टर हवा से सतह और हवा से हवा में मार करने में सक्षम हैं।

5. इस साल मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडल समिति (CCS) की बैठक में 15 स्वदेश विकसित एलसीएच को 3,887 करोड़ रुपये में खरीदने की मंजूरी दी गई थी। इनमें से 10 हेलीकॉप्टर वायुसेना के लिए और पांच थल सेना के लिए होंगे।

Posted By: Shailendra Kumar

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close