नई दिल्ली। कश्मीर को लेकर भारत के कड़े रुख के बाद पाकिस्तान बुरी तरह से बौखला गया है। अब पाकिस्तान ने एलओसी(LoC) के नजदीक बने अपने 7 लॉन्च पैड्स को दोबारा सक्रिय कर दिया है। इन लॉन्च पैड्स के जरिये पाक जम्मू कश्मीर में 275 आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की कोशिश में है। इसमें अफगान और पश्तून आतंकी भी शामिल हैं। पाकिस्तान इस हरकत को उस वक्त अंजाम दे रहा है जब आतंकी फंडिंग पर नजर रखने वाली संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की अगले महीने बैठक होनी है, जिसमें पाकिस्तान की किस्मत तय होगी।

इंटेलीजेंस अधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तान द्वारा अफगान और पश्तून जिहादियों का भारत में आतंक फैलाने के लिए इस्तेमाल कुछ असामान्य है। पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ प्रॉक्सी वॉर के लिए सबसे पहले 1990 में विदेशी आतंकवादियों को कश्मीर में घुसपैठ कराई थी। भारत द्वारा इसे लेकर सख्त काउंटर टेटर ऑपरेशन चलाने के बादपाकिस्तान ने पीओके के पंजाब के आतंकवादियों को भारत भजेने की शुरुआत की थी।

TOI के मुताबिक, इंटेलीजेंस सूत्रों के हवाले से इसके पक्के सबूत मिले हैं कि पाकिस्तानी आर्मी और ISI ने एलओसी पर लॉन्च पैड्स सक्रिय कर दिए हैं। जहां बड़ी संख्या में आतंकियों को तैयार किया जा रहा है। उन्हें उत्तरी कश्मीर के गुरेज सेक्टर से भारत में घुसपैठ कराने की तैयारी है।

एलओसी पर लगभग 80 आतंकी गुरेज के नजदीक बताए जा रहे हैं। 60 आतंकी माछल में, 50 करनाह में, 40 केरान में, 20 उरी में, 15 नौगाम और 10 रामपुर में मौजूद होने के इनपुट मिले हैं।

आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने फरवरी में पुलवामा में आतंकी हमला किया था। इस हमले में 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए पाकिस्तान में मौजूद जैश के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की थी। इसके बाद भारत और पाक के संबंधों में तल्खी बढ़ गई थी।

हाल ही में भारत द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। जब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाक अकेला पड़ गया तो अब वह एक बार फिर आतंकवाद का सहारा लेकर जम्मू कश्मीर सहित भारत के अन्य हिस्सों में माहौल बिगाड़ने की कोशिश में जुट गया है।