Pamban Bridge: पंबन ब्रिज भारतीय तमिलनाडु में रामनाथपुरम जिले में समुद्री रेलवे पुल है। इस पूल का काम जोरों पर है। आम जनता के लिए जल्द शुरू होगा। हर साल यहां हजारों लोग ब्रिज देखने आते हैं। मंडपम और रामेश्वरम को जोड़ने वाला पुल 1914 में बना था। 1964 में चक्रवात से पुल क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके कुछ हिस्सों के ढह जाने के बाद 2018 में इसे बंद कर दिया गया था। तत्कालीन रेलमंत्री पीयूष गोयल ने नए पुल के निर्माण के लिए 250 करोड़ रुपए की घोषणा की थी। आइए जानते है भारत के पहले वर्टिकल लिफ्ट रेलवे सी ब्रिज के बारे में।

पहला वर्टिकल लिफ्ट सी ब्रिज

यह पुल 2.5 किमी लंबा होगा। देश का पहला वर्टिकल लिफ्ट सी-ब्रिज होगा। पुराने पुल की तुलना में नया पुल तीन मीटर ऊंचा और समुद्र तल से 22 मीटर ऊंचा होगा। पुल के 63 मीटर के केंद्र को आधुनिक तकनीक का उपयोग करके उठाया जा सकता है, ताकि जहाज आसानी से इसके नीचे से गुजर सकें।

डिवीजनल इंजीनियर ने दी जानकारी

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए दक्षिण रेलवे के महाप्रबंधक ने कहा कि पुराना पंबन पुल 24 फरवरी 1914 में चालू किया गया था। लगभग 108 साल बीत गए। अब नई तकनीकों के साथ आगे बढ़ने का समय आ गया है। नए पुल की अनुमानित लागत 250 करोड़ रुपए है। इसे इसी वर्ष पूरा करने का टारगेट है। इस पुल के बारे में जानकारी देते हुए पंबन ब्रिज के डिवीजनल इंजीनियर और इंचार्ज हृदयेश कुमार ने कहा, 'मौजूदा पुल संरचना की लंबई 2058 मीटर है। जिसमें 146 स्पैन स्टील गर्डर शामिल हैं। 12.20 मीटर के 145 स्पैन और 61 मीटर के एक नेविगेशनल स्पैन है।' उन्होंने कहा कि नए पुल में 18.3 मीटर के 100 स्पैन और 63 मीटर के एक नेविगेशनल स्पैन होंगे। यह समुद्र तल से 22 मीटर के साथ मौजूदा पुल से 3 मीटर ऊंचा होगा।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close