पंचकूला। पंचकूला हिंसा मामले में गिरफ्तार डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की मुंहबोली बेटी व राजदार हनीप्रीत व उसी के साथ गिरफ्तार सुखदीप कौर का पुलिस रिमांड मंगलवार को खत्म हुआ। इसके बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें फिर से तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

पंचकूला पुलिस ने नौ दिन के रिमांड की मांग करते हुए कहा कि हनीप्रीत का मोबाइल कवर किया जाना है। साथ ही डॉक्टर आदित्य पावन और गोभी राम को हनीप्रीत की निशानदेही पर गिरफ्तार किया जाना है, इसलिए उसका 9 दिन का रिमांड दिया जाए, लेकिन बचाव पक्ष के वकील एसके गर्ग नरवाना ने इस बात का विरोध करते हुए कहा कि पहले ही एक महिला का 6 दिन का रिमांड लिया जा चुका है। इन दिनों में भी पुलिस को कुछ नहीं मिला तो 9 दिन में क्या ढूंढ लेगी, लेिकन कोर्ट ने हनीप्रीत को 3 दिन के रिमांड पर भेज दिया

इससे पूर्व, आज रिमांड खत्म होने से पहले पुलिस विपासना व हनीप्रीत को एक साथ पूछताछ करने की तैयारी में थी, लेकिन विपासना ने स्वास्थ्य कारणों से आज जांच में शामिल होने से इन्कार कर दिया। अब पुलिस को उसका दोबारा रिमांड मिला है। पुलिस इस दौरान दोनों से आमने-सामने की पूछताछ कर सकती है।

एसआईटी ने समन देकर विपासना को सेक्टर-23 थाने में जांच के लिए बुलाया था। पुलिस विपासना अौर हनीप्रीत को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ करना चाहती थी। इसके साथ ही पुलिस विपासना से पंचकूला हिंसा को लेकर भी पूछताछ करने वाली थी।

विपासना हनीप्रीत को पसंद नहीं करती थी और वह हमेशा यही चाहती थी कि हनीप्रीत का डेरे में दखल न हो। पंचकूला पुलिस ने हनीप्रीत से कोई सुराग न मिलने के चलते विपासना को नोटिस देकर पंचकूला बुलाया था। विपासना ने पुलिस को कंफर्म भी किया था कि वह आएगी, लेकिन एेन मौके पर उसने अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर आने से मना कर दिया।

दोनों के बीच माना जाता है छत्तीस का आंकड़ा

विपासना और हनीप्रीत के बीच छत्तीस का आकड़ा माना जाता है। एक तरफ जहा हनीप्रीत ने खुद को गुरमीत राम रहीम की असली वारिस होने का ऐलान कर डाला था। वहीं गुरमीत के जेल जाने के बाद से विपासना कहती आ रही थी कि हनीप्रीत का डेरा सच्चा सौदा से कोई लेना-देना नहीं है और न ही उसकी कोई हिस्सेदारी है। खुद विपासना भी नहीं चाहती है कि हनीप्रीत का अब डेरे में कोई दखल हो। इसी खींचतान के बीच अब हनीप्रीत के सामने विपासना को बैठाया जाएगा जिसमें पुलिस डेरे से संबंधित और पंचकूला में हुए दंगों के बारे में कई सवाल पूछेगी।

पुलिस को चाहिए इन सवालों का जवाब

-सूत्रों के अनुसार दोनों को सामने बैठाकर पूछा जाएगा कि डेरे से जब काफिला चला तो दोनों के बीच में कोई बातचीत हुई थी?

-दोनों को डेरे से गाड़ियों में निकली आगजनी के सामान के बारे में जानकारी थी?

-दोनों डेरे की प्रमुख लोगों में से एक है तो ऐसे में यह कैसे हो गया कि इतना भारी असला, पेट्रोल डेरे से काफिले में निकला और दोनों को जानकारी नहीं?

-दंगे के लिए पैसों की फंडिंग हनीप्रीत ने की या किसी और ने?

-हनीप्रीत और राम रहीम के संबंधों के बारे में भी सवाल पूछे जा सकते है।

हां, विपासना को पंचकूला बुलाया है

पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि हनीप्रीत का रिमांड मंगलवार को खत्म हो रहा है। उसे दोबारा कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लिया जाएगा। विपासना को नोटिस देकर पंचकूला में पूछताछ के लिए बुलाया गया है। आमने-सामने पूछताछ के सवाल पर सीपी ने कहा कि कुछ भी संभव है।

राकेश और हनीप्रीत से रात को हुई पूछताछ

चंडीमंदिर पुलिस थाने में रविवार देर रात हनीप्रीत और राकेश अरोड़ा की दोबारा आमने-सामने बैठाकर पूछताछ हुई। परंतु फिर भी दोनों ने पुलिस को संतोषजनक जवाब नहीं दिए। रविवार दिन में भी हनीप्रीत से पूछताछ हुई थी जिसके बाद एसआइटी राकेश को थाने से ले गई थी। देर रात फिर से एसआइटी राकेश को दोबारा पुलिस स्टेशन लेकर पहुंची। दोनों के बीच रात 10 से 3 बजे के बीच पूछताछ की गई।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना