नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने अपने बजट भाषण में 'अन्नदाता ऊर्जादाता' स्कीम का ऐलान किया है। इसके तहत किसानों को सक्षम बनाया जाएगा कि वे अपने खेतों में बिजली पैदा कर सके। यह बिजली सरकार खरीदेगी। इस तरह किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी।

योजना के मुताबिक, किसान अपने खेतों में दो मेगावॉट अक्षय ऊर्जा उत्पादन के लिए सोलर पैनल लगा सकते हैं और यह बिजली सरकार खरीदेगी। सरकार साल 2022 तक 175 गीगा वॉट अक्षय ऊर्जा उत्पादनका लक्ष्य न केवल हासिल करेगी, बल्कि इसे पार भी करेगी।

नई योजना से किसानों को एक साल में एक लाख रुपए तक की अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। जो किसान सोलर पैनल लगाने में लागत की दिक्कत का सामना करेंगे, वे इसके लिए अपनी जमीन डेवलपर को दे सकते हैं।

सरकार ने 2022 तक अक्षय या नवीकरणीय ऊर्जा के विभिन्न स्त्रोंतों से ग्रिड संबंद्घ अक्षय ऊर्जा की 175 गीगा वॉट क्षमता स्थापित करने का लक्ष्य रखा है। इसमें सौर ऊर्जा से 100 गीगा वॉट, पवन ऊर्जा से 60 गीगा वॉट, जैव ऊर्जा से 10 गीगा वॉट और लघु पनबिजली से 5 गीगा वॉट की उत्पादन क्षमता शामिल है। स्कीम अगले 20 दिन में सिंह ने कहा कि भारत अक्षय ऊर्जा उत्पादन के मामले में सर्वाधिक तेज गति से काम करने वाले देशों में शामिल हुआ है। सरकार अगले 15 से 20 दिन में किसानों के लिए एक खास योजना शुरू करने वाली है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस