नई दिल्ली। लोकसभा के बाद मंगलवार को राज्यसभा में भी भारी हंगामे के बीच एसपीजी संशोधन बिल पास हो गया है। गृहमंत्री अमित शाह द्वारा बिल पेश करने के बाद कांग्रेस द्वारा इस पर आपत्ति ली गई थी। हालांकि शाह ने बिल में किए गए संशोधन को लेकर कांग्रेस के सारी आपत्तियों को खारिज कर दिया। भारी हंगामें के बीच एसपीजी संशोधन बिल पास हो गया। इसके पूर्व लोकसभा में आज भाजपा कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के सोमवार को दिए गए बयान पर हमलावर होती नजर आई। भाजपा सांसद पूनम महाजन ने अधीर रंजन चौधरी पर निशाना साधते हुए कहा कि 'निर्बल तो आप हैं दादा कि एक ही परिवार की महिला के लिए आप खड़े हैं और उसी के सम्मान और सुरक्षा के लिए लड़ रहे हैं।'

इसके पूर्व पूनम ने कहा कि सोमवार को जब सभी सांसद तेलंगाना में महिला डॉक्टर के सामूहिक दुष्कर्म और हत्या पर एक साथ खड़े थे। कुछ समय बाद जिनके नाम में 'धीर' है ऐसे अधीर रंजन जी के अपने धीर का बांध टूट गया। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण पर उन्होंने जो टिप्पणी की वो सबसे बुरा हुआ।

वहीं दूसरी ओर लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पारित होने के बाद अब इसे मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह द्वारा राज्यसभा में पेश किया जाएगा। एसपीजी संशोधन विधेयक में प्रावधान रखा गया है कि प्रधानमंत्री और उनके परिवार के सदस्य जो उनके साथ आधिकारिक निवास में रह रहे हैं उन्हें ही 5 साल के लिए एसपीजी सुरक्षा प्रदान की जाएगी। यह सुरक्षा उस ही दिन से दी जाएगी जिस दिन से पीएम अपना कार्यभार संभाल लेंगे। बता दें कि हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा गांधी परिवार को दी जा रही एसपीजी सुरक्षा को वापस लेकर उन्हें जेड प्लस सुरक्षा प्रदान की गई थी। इस पर जमकर राजनीति बवाल हुआ था। लोकसभा में भी संशोधन विधेयक प्रस्ताव रखने पर इसे प्रतिशोध की राजनीति बताया गया था। जिसे केंद्र सरकार की ओर से खारिज कर दिया गया था।

बता दें कि एसपीजी संशोधन विधेयक पेश करने के पहले भाजपा की संसदीय दल की बैठक भी हुई। बैठक में पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद थे। एसपीजी संशोधन विधेयक लोकसभा में 27 नवंबर 2019 को पारित हो गया था।

बीजेपी, टीएमसी ने दिया शून्य काल नोटिस

बीजू जनता दल (BJD) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने राज्यसभा में शून्यकाल नोटिस (Zero Hour Notice) दिया है। बीजेपी ने ओडिशा में इंटरनेशनल डिजास्टर रेसिलिएंस एंड रिस्क मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट बनाए जाने को लेकर नोटिस दिया है। वहीं तृणमूल कांग्रेस ने देश में जाली नोटों को लेकर नोटिस दिया है।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस