चंडीगढ़। पिछले दिनों हरियाणा में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां दो युवतियों का पासपोर्ट सिर्फ इसलिए नहीं बनाया गया क्योंकि उनकी सूरत नेपालियों की तरह दिखाई देती है। इतना ही नहीं पासपोर्ट कार्यालय में इन युवतियों के दस्तावेजों पर 'Applicant seem to be Nepali' भी लिख दिया गया। यह मामला तब सामने आया जब पीड़ित युवतियों द्वारा इस मामले की शिकायत मंत्री अनिल विज (Anil Viz) से की गई। पीड़ित युवतियां चंडीगढ़ स्थित पासपोर्ट कार्यालय में अपना पासपोर्ट बनवाने गईं थी। इस दौरान वहां मौजूद कर्मचारी ने उन्हें देखा। युवतियों की सूरत नेपालियों की तरह दिखाई दे रही थी, ऐसे में कर्मचारियों द्वारा इसी आधार पर उनका पासपोर्ट बनाने से इंकार कर दिया गया था।

एक पीड़िता का कहना है कि वह अपनी बहन के साथ पासपोर्ट बनवाने पहुंची थी लेकिन वहां मौजूद जिम्मेदारों ने उनका पासपोर्ट बनाने से इंकार कर दिया। उन्हें कहा गया कि वे दोनों नेपाली हैं। इतना ही नहीं उन्हें अपनी राष्ट्रीयता सिद्ध करने के लिए भी कहा गया। इसके बाद दोनों बहनें इस मामले को मंत्री अनिल विज के पास ले गईं।

उनका कहना है कि इस मामले की जानकारी मंत्री अनिल विज तक पहुंचने के बाद ही उनके पासपोर्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू हो सकी है। वहीं इस घटना को लेकर अंबाला डिप्टी कमिश्नर अशोक शर्मा ने कहा 'विजय बहादुर नाम का शख्स अपनी बेटियों संतोष और हिना के साथ पासपोर्ट कार्यालय पहुंचा था। उनका पासपोर्ट बनाने की प्रक्रिया नहीं की गई और दस्तावेजों पर लिखा आवेदक नेपाली दिखाई दे रहे हैं।'

शर्मा ने आगे कहा 'मेरी जानकारी में आने के बाद इस मामले पर संज्ञान लिया है। मेरे हस्तक्षेप के बाद दोनों बहनों को पासपोर्ट ऑफिस की ओर से बुलाया गया और अब उनका पासपोर्ट जल्द बन जाएगा।' वहीं इस पूरे घटनाक्रम को लेकर उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जाएगी और गलती करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Neeraj Vyas

fantasy cricket
fantasy cricket