Pension News : अब डाकघर में भी पेंशनर्स जीवन प्रमाण पत्र बनवा सकेंगे। इसके बाद अब कोई भी पेंशनधारी अपने नजदीक के डाकघर में जाकर या पोस्टमैन के माध्यम से अपना डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र बनवा करवा सकता है। डाकघर में इस सेवा के शुरू होने से पेंशनर को काफी सुविधा होगी। इस सेवा का लाभ ग्रामीण क्षेत्र के पेंशनर्स अपने नजदीकी शाखा डाकघर में ले सकेंगे। इसके कारण उन्हें दूर शहर या बैंकों में जाकर लाइनों में लगने से होने वाली परेशानी से निजात मिलेगी। इस सेवा का लाभ लेने के लिए पेंशनर्स के पास पीपीओ नंबर, आधार नंबर और मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है। डाककर्मी आधार के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र निर्गत कर देंगे, जो स्वत: पेंशन जारी करने वाले विभाग में अपडेट हो जाएगा। पेंशनर्स को इसके लिए मात्र 70 रुपये अदा करने होंगे। केंद्र या राज्य सरकार के पेंशनर को हर वर्ष एक नवंबर से 31 दिसंबर के बीच में जीवन प्रमाण पत्र देना पड़ता है, ताकि उन्हें पेंशन का पैसा मिलता रहे। किसी भी बैंक में पेंशनर्स का पेंशन आता हो, वे अपना जीवन प्रमाण पत्र डाक घर में बनवा सकेंगे।

दिव्‍यांगों को जल्‍द मिलेगा पेंशन का लाभ

पेंशन के लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहे दिव्यांगों को जल्द पेंशन मिलने जा रही है। दिव्यांग पेंशन के लिए समाज कल्याण विभाग को शासन को साढ़े तीन करोड़ रुपये मिल गए हैं, जो कि ट्रेजरी में करवा दिए गए हैं। जल्द ही दिव्यांगों के खाते में पेंशन आ जाएगी। कोरोनाकाल में दिव्यांगों की समस्या को देखते हुए शासन की ओर से दिव्यांगजनों को अप्रैल से जून तीन महीने की पेंशन अप्रैल महीने में ही दे दी गई थी। जुलाई से सितंबर महीने की पेंशन करीब 1000 दिव्यांगों को तो दी जा चुकी है, लेकिन अब भी 9000 के करीब दिव्यांगजनों को पेंशन नहीं मिल पाई है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस