कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने कहा है कि सदस्य 31 दिसंबर, 2021 के बाद भी नामांकन ई-फाइल कर सकते हैं। पहले पीएफ खाताधारकों के लिए ई-नॉमिनेशन भरने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर रखी गई थी। हालांकि अब भी ईपीएफओ ने सभी भविष्य निधि खाताधारकों से जल्द से जल्द अपना ई-नामांकन दाखिल करने को कहा है। ईपीएफओ ने ट्विटर पर कहा, "अभी तक ई-नामांकन दाखिल करने की कोई समय सीमा तय नहीं की गई है। 12 सितंबर, 2019 को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने एक परिपत्र जारी किया था और घोषणा की थी कि उसने एक ई-नामांकन सुविधा शुरू की है, जिसका लाभ EPFO ​​के सदस्य सेवा पोर्टल से लिया जा सकता है। ताजा पेरोल आंकड़ों के मुताबिक ईपीएफओ ने अक्टूबर महीने में 12.73 लाख शुद्ध ग्राहक जोड़े हैं। इसमें पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 10.22 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

नामांकन में ऑनलाइन बदलाव करने की सुविधा

इसके अलावा, ईपीएफ के सदस्यों के पास अपने ईपीएफ नामांकन में ऑनलाइन बदलाव करने की सुविधा है। सदस्य को अपने नियोक्ता से इसकी मांग करने की आवश्यकता नहीं है, इसके बजाय, वे ईपीएफओ यूएएन पोर्टल के माध्यम से बदलाव कर सकते हैं। कई खाताधारकों को ई-नॉमिनेशन फाइल करने की समय सीमा से कुछ दिन पहले आधिकारिक वेबसाइट पर गड़बड़ियों का सामना करना पड़ा, क्योंकि पेज लोड नहीं हो रहा था और बहुत धीमी गति से चल रहा था।

नामांकन के नियम अलग-अलग

ईपीएफ और ईपीएस (कर्मचारी पेंशन योजना) खातों में नामांकन के नियम अलग-अलग हैं। EPF अधिनियम के अनुसार परिवार के केवल परिभाषित सदस्यों को ही EPF खाते में नामांकित किया जा सकता है। पीएफ के लिए समय पर नामांकन दाखिल करना चाहिए क्योंकि खाताधारक की असामयिक मृत्यु की स्थिति में, परिवार के नामित सदस्य ईपीएफओ खाते का लाभ उठा सकते हैं।

Posted By: Navodit Saktawat