नई दिल्ली। जून 2020 से संभवतः प्रधानमंत्री मोदी और देश के अन्य शीर्ष गणमान्य व्यक्ति एक विशेषतौर पर तैयार विमान में यात्रा करेंगे। खबरों के अनुसार इस विमान को एयर इंडिया वन नाम दिया जा सकता है। इस विमान को लेकर आई खबर के अनुसार इसे वायुसेना के पायलट्स उड़ाएंगे और उसके लिए एयर इंडिया 10 वायुसेना पायलट्स को ट्रेनिंग भी दे रही है। हालांकि, प्रधानमंत्री के इस विशेष विमान का रखरखाव एयर इंडिया के पास ही होगा। जिस विमान को एयर इंडिया वन नाम दिए जाने की बात कही जा रही है वो एक Boeing 777 विमान है।

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति की यात्राओं के लिए तैयार हो रहा बोइंग 777-300 विमान को सेल्‍फ प्रोटेक्‍शन सूट्स, जैमर, सैटेलाइट कम्‍युनिकेशन और मिसाइल एनक्रिप्‍शन तकनीक से लैस किया जाएगा। इसमें मिसाइल डिफेंस सिस्टम भी लगा होगा।

फिलहाल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एयर इंडिया के विमान बी747 का इस्तेमाल करते हैं। इन विमानों को एयर इंडिया के पायलट उड़ाते हैं और इनके रखरखाव की जिम्मेदारी एआईईएसएल के जिम्मे है। जब यह बी747 विमान गणमान्य व्यक्तियों के लिए उड़ान नहीं भरते तो एयर इंडिया इनका इस्तेमाल वाणिज्यिक संचालन के लिए करती है। इस विमान में एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम नहीं है। जबकि एसपीजी के मुताबिक यह सबसे महत्‍वपूर्ण फीचर है।

एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, दो नये बी777 विमान अगले साल जुलाई में बोइंग के अमेरिकी संयंत्र से भारत लाए जाएंगे। इन पर "एयर इंडिया वन" लिखा होगा। सिर्फ वायुसेना के पायलट ही प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए इन दो नये विमानों को उड़ाएंगे। अधिकारी ने बताया कि बी777 विमानों के लिए वायुसेना के चार से छह पायलटों को एयर इंडिया द्वारा प्रशिक्षित किया गया है। वायुसेना के कुछ अन्य पायलटों को भी जल्द प्रशिक्षित किया जाएगा। नए विमानों का उपयोग केवल गणमान्य व्यक्तियों की यात्रा के लिए किया जाएगा।