देहरादून। लोकसभा का चुनाव प्रचार खत्म होने के अगले दिन शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तराखंड की दो दिनी यात्रा पर हैं। मोदी आज सुबह पारंपरिक गढ़वाली वेश-भूषा धारण कर केदारनाथ पहुंचे। उनकी कमर में भगवा वस्त्र बंधा था और सिर पर पहाड़ी टोपी थी। उन्होंने बाबा केदारनाथ के मंदिर में करीब आधा घंटा पूजा-अर्चना की। इस दौरान शांति पाठ और रुद्राभिषेक हुआ। पूजा के बाद मोदी ने वहां मौजूद लोगों का अभिवादन स्वीकार किया और निर्माण कार्यों की जानकारी ली। इसके बाद मोदी गरुड़चट्टी गुफा की ओर रवाना हो गए। आज रात में पीएम मोदी केदरनाथ में ही विश्राम करेंगे। पढ़िए मोदी की केदारनाथ यात्रा का हर अपडेट -

पीएम मोदी रुद्र गुफा में ध्यान कर रहे हैं।

वीडियो: पहाड़ी रास्ते से होते हुए रुद्र गुफा की ओर जाते पीएम मोदी

पीएम मोदी ने केदारनाथ धाम पर वाघाम्बर चढ़ाया है और घंटा भी अर्पित किया है। बताया जा रहा है कि जब किसी व्यक्ति की मनोकामना पूरी हो जाती है, तो वह घंटे या घंटियां चढ़ाते हैं। कई बार लोग मन्नत मांगने के समय भी इस तरह का उपहार चढ़ाते हैं। घंटे का वजन एक से डेढ़ क्विंटल का है।

(उत्तराखंड त्रासदी के बाद से जारी निर्माण कार्यों का जायजा लेते पीएम मोदी)

इससे पहले वायुसेना का चॉपर वहां उतरा था, जिससे निकले सुरक्षा अधिकारियों ने प्रोटोकॉल के तहत सुरक्षा व्यवस्था की जांच की उनकी हरी झंडी मिलने के बाद चॉपर वहां से पीएम को लेने के लिए रवाना हो गया था। प्रोटोकॉल के तहत पहले सुरक्षा अधिकारी वहां पहुंचे हैं।

सुरक्षा अधिकारियों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। कमांडोज पूरे मंदिर के आस-पास तैनात हो चुके हैं। स्नाइपर्स को भी लगाया गया है। एयर स्पेस को पूरी तरह बंद कर दिया है और इलाका छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

मोदी शनिवार को केदारनाथ जाएंगे और दर्शन करेंगे। वहीं रविवार को वे बद्रीनाथ में दर्शन करेंगे। केदारनाथ में मोदी एक खास गुफा में जाएंगे और कुछ समय गुजारेंगे। यह गुफा केदारनाथ मंदिर परिसर से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर बनी है। इसकी ऊंचाई करीब 12,250 फीट है। रात को वे केदारनाथ में ही रुकेंगे। वह रविवार की दोपहर को वापस दिल्ली आएंगे। बता दें, केदारनाथ धाम के प्रति मोदी की गहरी आस्था है। 80 के दशक में उन्होंने डेढ़ माह तक यहां समय गुजारा था और साधना की थी। वे 2017 में भी यहां आए थे। पढ़िए मोदी के केदारनाथ यात्रा का Live Update-

केदारनाथ में पुनर्निर्माण का विकास कार्य शुरू करने के बाद पीएम मोदी ने ही इस गुफा को बनाने के निर्देश दिए थे। इसे रुद्र गुफा नाम दिया गया है। प्रधानमंत्री केदारनाथ पहुंचने के बाद शाम के समय गुफा में ध्यान करेंगे।

इससे पहले शुक्रवार को चुनाव आयोग ने नरेंद्र मोदी की शनिवार को प्रस्तावित केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम यात्रा को अपनी मंजूरी दे दी है। साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय को आगाह किया है कि चुनाव की आदर्श आचार संहिता अभी भी लागू है। पीएमओ ने मोदी की उत्तराखंड की दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा को लेकर चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों को समझ लिया है। सूत्रों का कहना है कि चूंकि यह आधिकारिक यात्रा है, आयोग ने पीएमओ को 10 मार्च से अमल में आई आचार संहिता की याद दिलाई है।

Posted By: Arvind Dubey