प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर (Guru Tegh Bahadur) के 400वीं जयंती को मनाने के लिए गठित उच्चस्तरीय समिति की बैठक की अध्यक्षता की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद थे। बैठक में सभी इस आयोजन को सफल बनाने का संकल्प जताया। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने गुरु तेग बहादुर जी की जयंती की 400वीं वर्षगांठ को बहुत ही धूमधाम के साथ पिछले साल 24 अक्टूबर को एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया था। बैठक में इस विशेष अवसर को मानने के लिए साल भर में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा पर चर्चा होगी।

क्या करती है समिति?

इस HLC में प्रधानमंत्री सहित 70 सदस्य हैं और समिति के अध्यक्ष प्रधानमंत्री मोदी हैं। इनमें पंजाब, हरियाणा, बिहार, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, ओड़िशा और राजस्थान के मुख्यमंत्री भी शामिल हैं। इसके अलावा मिल्खा सिंह और हरभजन सिंह जैसे खिलाड़ी भी समिति में शामिल किये गये हैं। यह समिति गुरु तेग बहादुर की 400वीं जयंती की स्मृति से संबंधित नीतियों, योजनाओं और कार्यक्रमों को मंजूरी देगी और आयोजनों की निगरानी की करेगी। साथ ही पूरी दुनिया में गुरु तेग बहादुर की शिक्षा और उनके विचारों का प्रचार- प्रसार करने के लिए नीति और योजना बनाएगी।

सिख धर्म के 10 गुरुओं में नौवें गुरु तेग बहादुर का जन्म 1 अप्रैल, 1621 को हुआ था। उन्होंने हिन्दुओं, सिखों, कश्मीरी पंडितों और गैर मुस्लिमों का इस्लाम में जबरन धर्मांतरण का विरोध किया था। इसी वजह से मुगल बादशाह औरंगजेब के आदेश पर 24 नवंबर 1675 को दिल्ली में उनकी हत्या कर दी गई थी।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags