Uttar Pradesh Vidhan Parishad Chunav 2021: भाजपा ने उत्तर प्रदेश विधान परिषद के द्विवार्षिक चुनाव के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। इसमें वीआरएस लेकर राजनीति में आए पूर्व आईएएस अरविंद कुमार शर्मा (एके शर्मा) का नाम भी शामिल है। पार्टी की ओर से शुक्रवार को सूचना दी गई कि केंद्रीय चुनाव समिति ने उत्तर प्रदेश होने वाले आगामी विधान परिषद के द्विवार्षिक चुनाव के लिए जिन नामों पर अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है, उनमें शामिल हैं - स्वतंत्र देव, डॉ. दिनेश शर्मा, लक्ष्मण प्रसाद आचार्य और अरविंद कुमार शर्मा।

बता दें, गुजरात कैडर के अधिकारी एके शर्मा ने दो दिन पहले वीआरएस लिया था और गुरुवार को वे भाजपा में शामिल हो गए। लखनऊ में हुए कार्यक्रम में उन्होंने विधिवत सदस्यता ग्रहण की। माना जा रहा है कि उन्हें जल्द ही बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। चर्चा तो तक है कि उन्हें योगी आदित्यनाथ सरकार में डिप्टी सीएम नियुक्त किया जा सकता है। दिल्ली से लेकर लखनऊ तक सियासी गलियारों में इसकी चर्चा जोरों पर है। एके शर्मा पीएम मोदी के विश्वस्त माने जाते हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में एक और उप मुख्यमंत्री बनाए जाने की चर्चा तो है लेकिन वह अनुसूचित जाति से होगा, ऐसा भी कहा जा रहा है। उम्मीद है आने वाले दिनों में तस्वीर साफ हो जाएगी।

जानिए कौन हैं आईएएस एके शर्मा

यूं तो आईएएस एके शर्मा का कार्यकाल अभी 2 साल और था, लेकिन सोमवार को उन्होंने वीआरएस ले लिया। अब कहा जा रहा है कि वे भाजपा में शामिल हो सकते हैं। यूपी में डिप्टी सीएम बनाने जाने की चर्चा इसलिए भी है, क्योंकि एके शर्मा मूल रूप से उत्तर प्रदेश के काजाखुर्द मऊ के रहने वाले हैं।

एके शर्मा को पिछले साल अप्रैल में एमएसएमई में सचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ गुजरात में भी CMO के साथ काम किया है। कुल मिलाकर एके शर्मा उन चुनिंदा अधिकारियों में से हैं, जो नरेंद्र मोदी के साथ 2001 से काम कर रहे हैं। पीएम के रूप में मोदी के विजन को आगे बढ़ाने में उनकी अहम भूमिका रही है। वहीं पूरे कार्यकाल में वे लॉ-प्रोफाइल रहे। उनके सभी अधिकारियों के साथ अच्छे संबंध थे।

यूपी में हैं दो उप मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद से दो डिप्टी सीएम हैं। ये हैं - दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य। 2017 में उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के तौर पर योगी आदित्यनाथ के नाम के साथ उप मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा के नामों की घोषणा हुई थी। केशव प्रसाद पिछड़े वर्ग का चेहरा माने जाते हैं तो दिनेश शर्मा को उपमुख्यमंत्री बनाकर पार्टी ने अगड़ों को खुश करने की कोशिश की थी। बहरहाल, भाजपा या एके शर्मा की ओर से अभी कोई सफाई नहीं आई है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Makar Sankranti
Makar Sankranti