29 जुलाई को नई शिक्षा नीति के लागू हुए एक साल पूरे होनेवाले हैं। इस दिन को खास बनाने के लिए शिक्षामंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने एक कार्यक्रम आयोजित किया है। इस कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी शामिल होंगे और इस मौके पर आम लोगों को संबोधित करेंगे। आपको याद दिला दें कि नई शिक्षा नीति में स्कूल पाठ्यक्रम के 10 + 2 ढांचे को बदलकर, उसकी जगह 5 + 3 + 3 + 4 का नया पाठयक्रम संरचना लागू किया गया है। इसके तहत 3 से 6 साल के बच्चों को भी स्कूली पाठ्यक्रम के तहत लाने का प्रावधान किया गया था।

नई शिक्षा नीति को साल 2014 के आम चुनाव के दौरान बीजेपी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल किया था। साथ ही इस नीति को लागू करने से पहले साल 2019 में इस पर गहन चर्चा की गई थी। कई लोगों के सुझाव को शामिल करने के साथ, पूरे 34 साल बाद भारत में नई शिक्षा नीति लागू की गई। नई शिक्षा नीति में स्कूल शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक कई बड़े बदलाव किए गए हैं। इसमें पाँचवी क्लास तक मातृभाषा, स्थानीय या क्षेत्रीय भाषा में पढ़ाई का माध्यम रखने की बात कही गई है। साथ ही साल 2030 तक स्कूली शिक्षा में 100% जीईआर के साथ माध्यमिक स्तर तक एजुकेशन फ़ॉर ऑल का लक्ष्य रखा गया है। सबसे बड़ा बदलाव ये था कि स्कूल पाठ्यक्रम के 10 + 2 ढांचे की जगह 5 + 3 + 3 + 4 का नया पाठयक्रम संरचना लागू किया गया।

Posted By: Shailendra Kumar