नई दिल्ली । देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 जुलाई यानी "राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस" के अवसर पर देश के तमाम डॉक्टरों को संबोधित कर रहे हैं। बता दें कि कोरोना काल से ही देश की तमाम जनता की उम्मीदों पर डॉक्टर्स खरे उतरे हैं । इन्ही के सम्मान के लिए एवं डिजिटल इंडिया अभियान के 6 वर्ष पूरे होने पर पीएम मोदी देश की जनता व डाॅक्टर्स को संबोधित कर रहे हैं। अपने संबोधन में सबसे पहले पीएम मोदी ने सभी को शुभकामनाएं दी। उसके बाद संबोधन को जारी किया।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि डिजिटल इंडिया के माध्यम से ही एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड को सच किया जा रहा है। इससे प्रवासी कामगारों को सबसे ज्यादा फायदा हो रहा है, क्योंकि उन्हें अब नए राशन कार्ड नहीं बनाने पड़ेंगे। इससे पहलें पीएम ने कहा कि आज का दिन भारत के सामर्थ्य, भारत के संकल्प और भविष्य की असीम संभावनाओं को समर्पित है। डिजिटल इंडिया भारत का संकल्प है। डिजिटल इंडिया, आत्मनिर्भर भारत की साधना है। डिजिटल इंडिया 21वीं सदी में सशक्त होते भारत का जयघोष है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि डिजिटल मीडिया के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं दूर-दूर तक पहुंच पाई है।

पीएम मोदी ने कहा कि 'Minimum Government, Maximum Governance' के सिद्धांतों पर चलते हुए सरकार और जनता के बीच सिस्टम और सुविधाओं के बीच समस्याओं और सर्विस के बीच का गैप कम करना, इनके बीच की मुश्किलें कम करना और जन सामान्य की सुविधा बढ़ाना ये समय की मांग रहा है।

इससे पहले लाभार्थियों से बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब हमारी कोशिश है कि गांव में सस्ती और अच्छी इंटरनेट कनेक्टिविटी मिले। सस्ते मोबाइल और दूसरे माध्यम उपलब्ध हो ताकि गरीब बच्चा भी अच्छा पढ़ाई कर पाएं। पीएम ने ई-नाम योजना के लाभार्थी के साथ बात की। उन्होनें कहा कि ई-नाम पोर्टल इसलिए बनाया गया है, ताकि किसान देश की सभी मंडियों में अपनी फसल का सौदा कर सके। इस पोर्टल पर किसान और व्यापारी बड़ी संख्या में जुड़ रहे हैं।

Posted By: Sandeep Chourey