नई दिल्ली। ISRO की सालों की मेहनत और वैज्ञानिकों के अथक प्रयास के चलते भारत ने अंतरिक्ष में एक नई उड़ान भरी है। इसरो ने सोमवार को चंद्रयान-2 की सफलतापूर्वक लॉन्चिंग कर चांद की तरफ कदम बढ़ाया है। आज के बाद 48वें दिन चंद्रयान-2 चांद की सतह पर उतरेगा।

इसरो की इस सफलता के गवाह प्रधानमंत्री खुद भी बने और लॉन्चिंग की प्रक्रिया का लाइव वीडियो वो अपने दफ्तर में देखते रहे। चंद्रयान-2 के पृथ्वि की कक्षा में स्थापित होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर वैज्ञानिकों और देश की जनता को बधाई दी है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है, 'यह एक एतिहासिक क्षण है जो हमारे गौरवशाली इतिहास में अंकित किया जाएगा। चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग हमारे वैज्ञानिकों के कौशल और देश की 130 करोड़ जनता के डिटर्मिनेशन को दिखाता है। आज हर भारतीय बेहद गर्व से भरा हुआ है।'

उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा, 'चंद्रयान-2 जैसी कोशिशें हमारे युवाओं को विज्ञान की तरफ प्रेरित करेगा, साथ ही उच्च स्तर की खोज और इनोवेशन के लिए भी प्रेरित करेगा। चंद्रयान को धन्यवाद जिसकी वजह से भारत के मून मिशन कोऔर बूस्ट मिलेगा। साथ ही चांद को लेकर हमारे ज्ञान में और बढ़ोतरी होगी।'

प्रधानमंत्री के अलावा रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी इसरो को इस सफलता पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि टीम इसरो ने भारत के अंतरिक्ष इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ दिया है। पूरा देश अपने वैज्ञानिकों और इसरो की इस सफलता पर बेहद गर्व और खुशी महसूस कर रहा है।

उपराष्ट्रपति ने राज्यसभा में चंद्रयान-2 की सफल लॉन्चिंग की घोषणा करते हुए कहा कि मैं अपने दिल से वैज्ञानिकों को देश की जनता को इस सफलता पर बधाई देता हूं। हमारे वैज्ञानिक इस मामले में विशेष बधाई के पात्र हैं।

Posted By: Ajay Barve