नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही सऊदी अरब के दौरे पर जा सकते हैं। हालांकि, इसे लेकर अब तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है लेकिन मीडिया में सरकारी सूत्रों के हवाले से किए जा रहे दावे के अनुसार प्रधानमंत्री इस दौरे पर सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। इसके साथ रियाद में गल्फ देशों द्वारा आयोजित की जाने वाली इन्वेस्टमेंट समिट में भी प्रधानमंत्री हिस्सा लेंगे। रिपोर्ट्स के अनुसार हाल ही में सऊदी के दौरे पर गए एनएसए अजीत डोभाल ने प्रधानमंत्री मोदी के दौरे की जमीन तैयार कर दी है और प्रधानमंत्री संभवतः इस महीने के अंत तक सऊदी अरब का दौरा कर सकते हैं।

अपने दौरे पर डोभाल ने द्विपक्षीय संबंधों से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा के साथ ही जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के भारत सरकार के फैसले के संबंध में भी सऊदी नेताओं को अवगत करवाया था। इसके बाद ही सऊदी अरब ने भारत के इस कदम का समर्थन किया था।

बता दें कि एनएसए अजीत डोभाल इसी हफ्ते मंगलवार को सऊदी अरब के दौरे पर थे और इस दौरान उन्होंने क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात कर उन्हें जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत के फैसले और वहां के हालात की जानकारी दी थी। इस पर प्रिंस सलमान ने कहा था कि सऊदी अरब जम्मू-कश्मीर पर भारत के लंबे समय से चले आ रहे रुख से वाकिफ हैं। साथ ही सऊदी अरब ने भारत और पाकिस्तान को आपसी तनाव कम करने की जरूरत पर भी जोर दिया।

प्रधानमंत्री मोदी अगर इस दौरे पर जाते हैं तो उनका यह दूसरा सऊदी दौरा होगा। इससे पहले वे 2016 में रियाद गए थे और उस दौरान उन्हें वहां के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया था। वहीं सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान इसी साल फरवरी में भारत दौरे पर आए थे जिसमें दोनों ही देशों ने आपसी रणनीतिक साझेदारी के साथ आतंकवाद और अतिवाद की निंदा की थी।

Posted By: Ajay Barve