अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना 69वां जन्‍मदिन गुजरात में अपनी 98 वर्षीय मां हीराबेन मोदी के साथ मनाया। सरदार सरोवर बांध का दौरा करने के बाद पीएम मोदी गांधीनगर में मां हीरा बेन का आशीर्वाद लेने पहुंचे। मां के साथ कुछ वक्त बिताने के बाद पीएम मोदी वहां से रवाना हो गए।

इसके पूर्व पीएम मोदी ने केवड़िया जिले में स्थित सरदार सरोवर बांध का दौरा किया। उनके साथ पार्टी के कई वरिष्ठ नेता भी मौजूद हैं। वह नर्मदा तट पर स्थित गरुडेश्वर मंदिर पहुंचे और वहां पूजा अर्चना भी की।

मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वडनगर में हुआ था। इसके साथ ही वह सरदार सरोवर बांध, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी और अन्य परियोजनाओं की समीक्षा व दौरा करेंगे।

पिछले साल 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती पर प्रधानमंत्री ने दुनिया में सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का उद्घाटन किया था। इस यात्रा के दौरान पीएम मां नर्मदा का पूजन भी करेंगे। गरुड़ेश्वर गांव में दत्तात्रेय मंदिर और बच्चों के एक पार्क का दौरा करने के बाद वह अहमदाबाद से करीब 200 किमी दूर केवडिया में एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

पीएम मोदी की यात्रा ऐसे समय में हो रही है, जब साल 2017 में उद्घाटन किए गए इस बांध में जलस्तर अपने उच्चतम स्तर 138.68 मीटर तक पहुंच गया है। बांध का लक्ष्य 131 शहरी केंद्रों और 9,633 गांवों और 18.54 हेक्टेयर में सिंचाई की सुविधा प्रदान करना है, जिसमें 15 जिलों के 3,112 गांव शामिल हैं। पीएम "नमामि नर्मदे महोत्सव" की भी शुरुआत करेंगे।

एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि केवडिया में बांध स्थल का दौरा करने के बाद, प्रधानमंत्री एक सभा को संबोधित करेंगे। हमने नर्मदा, भरूच और छोटाउदेपुर जिलों से सभा में शामिल होने के लिए आने वाले करीब 10,000 लोगों को समायोजित करने के लिए एक विशाल गुंबद जैसी संरचना बनाई है।

माना जा रहा है कि नर्मदा बचाओ आंदोलन के कार्यकर्ता पीएम की बांध की यात्रा का विरोध कर सकते हैं। उनकी मांग है कि बांध के दरवाजे खोले जाएं क्योंकि पानी रोके जाने की वजह से वह वापस लौट रहा है और इसकी वजहसे मध्य प्रदेश के लगभग 180 गांवों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है।