नई दिल्ली। पंजाब एंड महाराष्ट्र को ऑपरेटिव बैंक में लगभग 4300 करोड़ का घोटाला सामने आया है। इसके बाद RBI ने सख्ती बरतते हुए अगले 6 महीने में बैंक खाताधारकों द्वारा सिर्फ 25 हजार की राशि निकालने की ही अनुमति दी है। इससे नाराज सैंकड़ों खाताधारक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्हें उनकी बैंक में जमा पूंजी के डूबने का डर सता रहा है। इसे लेकर सोमवार को एक बार फिर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बयान सामने आया है। सीतारमण ने कहा कि 'RBI ने मुझे बार-बार भरोसा दिया है, आज भी RBI गवर्नर ने मुझे आश्वासन दिया है कि वे कस्टमर्स के हितों का ध्यान रखेंगे। उन्होंने इस मामले का जल्द से जल्द निराकरण करने की बात भी कही है।'

PMC बैंक केस में 3 आरोपियों को भेजा जेल

PMC बैंक घोटाला केस में आज पुलिस ने तीन आरोपियों राकेश वाधवा, सारंग वाधवा और वारयाम सिंह को कोर्ट में पेश किया था। जहां से कोर्ट ने सभी आरोपियों को 16 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।

वित्तमंत्री के सामने हो चुका है हंगामा

PMC बैंक के खाताधारक मुंबई में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने भी अपना पैसा वापस लौटाए जाने को लेकर विरोध प्रदर्शन कर चुके हैं। 10 अक्टूबर को जब निर्मला सीतारमण मुंबई में भाजपा मुख्यालय पर मौजूद थी, उस दौरान खाताधारकों के एक प्रतिनिधि मंडल ने सीतारमण से मुलाकात की थी। वहीं कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन भी किया गया था।

वित्तमंत्री ने इस दौरान कहा था कि वित्त मंत्रालय का इस मामले से सीधे तौर पर लेना-देना नहीं है। इस केस में RBI रेग्यूलेटर है, यह उनके कार्यक्षेत्र का मामला है। हालांकि सीतारमण ने अपने मंत्रालय के सचिवों को ग्रामीण विकास मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय के साथ इस मामले का विस्तृत अध्यन करने का कहा था।

Posted By: Neeraj Vyas