Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana : PMKVY प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) का तीसरा चरण देश के सभी राज्यों में करीब 600 जिलों में शुक्रवार से शुरू होगा। कौशल विकास तथा उद्यमिता मंत्रालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया है कि इस चरण में कोरोना से जुड़े कौशल विकास पर फोकस होगा। मंत्रालय के मुताबिक स्किल इंडिया मिशन पीएमकेवीवाई 3.0 के तहत 2020-2021 के योजना काल में आठ लाख लोगों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य है, जिसके लिए 948.90 करोड़ रुपये का आंवटन किया गया है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 729 प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र तथा 200 से अधिक आइआइटी द्वारा चलाया जाएगा। सरकार ने पीएमकेवीवाई 1.0 तथा पीएमकेवीवाई 2.0 के अनुभवों के आधार पर नए संस्करण में कोरोना के कारण पैदा हुई मौजूदा स्थितियों को देखते हुए और सुधार किया गया है। यह केंद्र सरकार की महत्‍वपूर्ण योजना है। इसे गत 15 जुलाई 2015 को विश्व युवा कौशल दिवस पर लॉन्‍च किया गया था। इसकी शुरुआत से लेकर अभी तक हज़ारों की संख्‍या में युवा इस प्रशिक्षण का लाभ ले चुके हैं। इतना ही नहीं, वे अब अन्‍य लोगों को ट्रेनिंग के लिए प्रेरित करते हैं। इसके अमल के लिए तय स्टीयरिंग समिति द्वारा इसके नियम निर्धारित किए गए हैं और इस समिति के आदेश के अनुसार ही इनमें बदलाव हो सकता है। पीएमकेवीवाई 3.0 का शुभारंभ केंद्रीय कौशल विकास तथा उद्यमिता मंत्री महेंद्रनाथ पांडेय करेंगे। इस मौके पर राज्यमंत्री राज कुमार सिंह भी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम को राज्यों के कौशल विकास मंत्री तथा सांसद भी संबोधित करेंगे।

जानिये क्‍या है यह योजना और कैसे मिलता है इसका लाभ

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana PMKVY: प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना PMKVY के नाम से युवाओं के बीच लोकप्रिय है। इस योजना का फायदा उठाकर कई शिक्षित बेरोजगार आज नौकरी प्राप्‍त कर चुके हैं। कोरोना महामारी के इस दौर में नौकरियों का संकट पैदा हो गया है। ऐसे में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए यह बहुत काम की खबर है। यदि आपने तकनीकी शिक्षा प्राप्‍त की है तो आपको अच्‍छे अवसर मिलेंगे। वर्तमान में समय में तकनीकी शिक्षा हासिल कर चुके युवाओं के लिए अनेक शासकीय व गैर शासकीय संस्‍थान रोजगार के अवसर उपलब्‍ध कराते हैं। हम आपको ऐसी ही एक उपयोगी सरकारी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। यहां हम आपको इस योजना के बारे में विस्‍तार से सब कुछ बताने जा रहे हैं।

यह है योजना का मुख्‍य उद्देश्‍य

PMKVY (प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना) के संचालन का मुख्य मकसद समाज के बेरोजगार एवं शिक्षित युवाओं को industrial Training (औद्योगिक प्रशिक्षण) देना है, ताकि उनकी तकनीकी दक्षता में और अधिक निखार आ सके। इस ट्रेनिंग फायदा उठाकर वे या तो स्‍वयं का कोई काम-धंधा शुरू कर सकते हैं या कहीं नौकरी भी कर सकते हैं। इसके अलावा, इस योजना के तहत कुशल कामगारों को सरकारी स्‍तर पर भी नौकरी दिलवाए जाने के प्रयास किए जाते हैं। जॉब फेयर जैसे मंच इसके लिए कारगर साबित होते हैं।

ट्रेनिंग का सारा खर्च उठाती है सरकार

PMKVY के तहत दिए जाने वाले औद्योगिक प्रशिक्षण में उम्मीदवार पर होने वाला सारा खर्च सरकार स्‍वयं ही उठाती है। इसकी पूरी राशि सीधे तौर पर प्रशिक्षण देने वाले सेंटर के खाते में ट्रांसफर की जाती है। हालांकि इसके लिए भी तयशुदा नियम हैं। हर केंद्र में प्रत्‍येक उम्‍मीदवार के आधार पर रजिस्‍ट्रेशन को अनिवार्य किया गया है। ट्रेनिंग सेंटर में आधार वेलिडेशन के लिए बायोमेट्रिक उपकरण का होना अनिवार्य है ताकि आधार का सत्‍यापन किया जा सके।

रजिस्‍ट्रेशन के लिए पात्रता यह है पात्रता

इस योजना में रजिस्‍ट्रेशन के लिए वे लोग पात्रता रखते हैं जिन्‍होंने हायर सेकंडरी या पोस्‍ट ग्रेज्‍युऐशन किया हुआ है। इस योजना में प्रत्‍येक छात्र रजिस्‍ट्रेशन नहीं करवा सकता। इसके अलावा जो भी छात्र यहां से प्रशिक्षण लेते हैं, उनके लिए सरकार की ओर से जॉब फेयर का आयोजन किया जाता है। प्रत्‍येक 6 महीने की अवधि में यह एक बार आयोजित किया जाता है।

ड्रॉप आउट भी ले सकते हैं इस योजना का लाभ

PMKVY प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के लिए 12वीं अथवा स्‍नातक के ड्रॉप आउट स्‍टूडेंट्स भी लाभ लेने की पात्रता रखते हैं। जो लोग अपनी नौकरी के लिए उपयुक्‍त योग्‍यता रखते हैं वे भी इसका लाभ ले सकते हैं। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने 10 मिलियन यानी 1 करोड़ युवाओं को ट्रेनिंग देने का लक्ष्‍य निर्धारित किया है।

ये दस्‍तावेज हैं अनिवार्य

PMKVY का प्रशिक्षण प्राप्‍त करने के लिए आवेदक को पासपोर्ट साइज के दो फोटो देना होंगे। परिवार के किसी भी सदस्‍य का आधार कार्ड देना होगा। यदि कोई आवेदन ऑनलाइन आवेदन करना चाहता है कि वह आधिकारिक वेबसाइट www.pmkvyofficial.org/Training-Centre.aspx पर जाकर भी Apply कर सकता है।

ऑनलाइन आवेदन इस तरह करें

जो आवेदक PMKVY 2019 के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं वे इन स्‍टेप्‍स को फॉलो करके अप्‍लाई कर सकते हैं। सबसे पहले आपको www.pmkvyofficial.org/Training-Centre.aspx पर विजिट करके नजदीकी कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र का चयन करना होगा। इसके बाद अपने नजदीकी प्रशिक्षण केंद्र का चयन करने के पश्चात आपको बताए गए सभी दस्‍तावेज को लेकर प्रशिक्षण केंद्र पर जाना होगा। इसके बाद केंद्र पर आप अपना पंजीयन करवा सकते हैं।

टोल फ्री नंबर से कर सकते हैं संपर्क

अगर आपको PMKVY प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना से जुड़ी किसी प्रकार भी जानकारी चाहिये तो आप टोल फ्री नंबर 08800055555 पर भी संपर्क कर सकते हैं। यह नंबर केंद्र सरकार द्वारा युवाओं की सुविधा के लिए ही जारी किया गया है।

ट्रेनिंग के बाद ऐसे मिलेगा सर्टिफिकेट

PMKVY के तहत आने वाले सारे प्रशिक्षण केंद्रों से प्रशिक्षणार्थी को उसका सर्टिफिकेट हासिल कर लेना चाहिये। इससे स्‍टीयरिंग कमेटी को सेंटर्स और ट्रेनी के बारे में जानकारी आसानी से मिल जाती है। प्रशिक्षण के बाद ट्रेनी को भी बकायदा सर्टिफिकेट दिया जाता है।

ट्रेनिंग सेंटर्स का ग्रेडेशन और लोकेशन

सारे प्रशिक्षण केंद्रों को स्‍टीयरिंग कमेटी द्वारा उनके कार्य के अनुसार वरीयता दी जाती है। ट्रेनिंग की क्‍वालिटी, सेंटर की क्षमता, परफार्मेंस और उनकी लोकेशन के आधार पर उनका ग्रेड तय किया जाता है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Makar Sankranti
Makar Sankranti