नई दिल्ली। भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पाक अधिकृत कश्मीर पर बड़ा बयान दिया है। जयशंकर ने कहा है कि पीओके भारत का हिस्सा है और उम्मीद है कि एक दिन यह भारत के अधिकार क्षेत्र में आ जाएगा। विदेश मंत्री के मुताबिक, पाकिस्तान से आर्टिकल 370 पर नहीं, बल्कि आतंकवाद पर बात होगी। दुनिया में पाकिस्तान जैसे कोई दूसरा देश नहीं है, जो इस स्तर पर जाकर आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। आतंकवाद पाकिस्तान की विदेश नीति का हिस्सा है।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति पर जयशंकर ने कहा, पड़ोसी देश में अल्पसंख्यकों की संख्या बीते 70 साल में काफी घट गई है। वहां अल्पसंख्यकों पर अत्याचार कोई नई बात नहीं है। यदि पाकिस्तान के सिंध प्रांत में सर्व किया जाए तो यह दुनिया का सबसे खराब हिस्सा साबित होगा।

पाकिस्तान की जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर विदेश मंत्री ने कहा कि काउंसलर एक्सेस हासिल करने भारत की सबसे बड़ी प्राथमिकता है। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) के आदेश के बाद भारत की इसकी मांग कर रहा है।

आर्टिकल 370 के बाद की शांति में विदेश मंत्री की भूमिका

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद प्रदेश में शांति है। पाकिस्तान भी कोरी धमकियां दे रहा है, लेकिन अब तक कोई खुराफात नहीं कर सका। भारत की इस बड़ी कूटनीतिक जीत में विदेश मंत्री जयशंकर की भी अहम भूमिका है। आर्टिकल 370 पर मोदी सरकार के फैसले के बाद जयशंकर ने कई देशों के राजनयिकों से बात की थी और उन्हें बताया था कि यह फैसला भारत के अधिकार क्षेत्र में है।