प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में एकजुटता दिखाने के लिए 5 अप्रैल रात 9 बजे 9 मिनट के लिए दीये या मोम बत्ती जलाने की अपील की थी, लेकिन सभी बड़े शहरों में लोगों ने इसके साथ पटाखे भी छोड़ दिए। इसका नतीजा यह हुआ है कि लॉकडाउन के कारण काबू में आया प्रदूषण एक बार फिर बढ़ गया।सोमवार को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण का स्तर एक बार फिर कुछ हद तक बढ़ा हुआ नजर आया। अच्छी श्रेणी में चल रही हवा दोबारा सामान्य श्रेणी में पहुंच गई। देश के अन्य बड़े शहरों से भी ऐसी ही खबरें आ रही हैं।

लॉकडाउन ने सुधार दिया था

LockDown की अवधि में दिल्ली-NCR ही नहीं, देशभर के अधिकांश शहरों की हवा बेहतर हुई है। कमोबेश सभी शहरों का एयर इंडेक्स 100 से कम यानी अच्छी श्रेणी में दर्ज हो रहा है। बहरहाल, सोमवार को यह दिल्ली-NCR में सभी जगह 100 से अधिक होकर सामान्य श्रेणी में पहुंच गया।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) द्वारा जारी एयर बुलेटिन के अनुसार सोमवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 142 दर्ज किया गया। NCR के शहरों में फरीदाबाद का 123, गाजियाबाद का 181, ग्रेटर नोएडा का 142, गुरुग्राम का 106 और नोएडा का 120 दर्ज किया गया। सभी शहरों की हवा सामान्य श्रेणी में दर्ज की गई। दूसरी तरफ दिल्ली का पीएम 2.5 और पीएम 10 भी सोमवार को बढ़कर 61 और 109 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया।

पटाखे फोड़ने के आरोप में कोलकाता में 126 गिरफ्तार

वहीं कोलकाता में भी इस दौरान कई लोगों ने जमकर आतिशबाजी भी की। कोलकाता सहित हावड़ा, हुगली, उत्तर व दक्षिण 24 परगना, वर्धमान, पुरुलिया, बीरभूम सहित अन्य जिलों में पटाखों की गूंज सुनाई दी। कोलकाता पुलिस ने इस दौरान पटाखा फोड़ने के आरोप में कई स्थानों से 126 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही 41 किलोग्राम प्रतिबंधित पटाखे भी पुलिस ने जब्त किया है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना