नई दिल्ली। एक राष्‍ट्र-एक चुनाव के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विपक्षी दलों के अध्‍यक्षों के साथ आज बैठक होगी। हालांकि कुछ अध्‍यक्षों ने इस बैठक का बहिष्‍कार भी किया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बुधवार को होने जा रही बैठक में भाग नहीं लेंगी। तेलंगाना के मुख्यमंत्री एवं टीआरएस अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव की जगह उनके बेटे केटी रामा राव भाग लेंगे।

पहले भी कांग्रेस समेत कई दल इसका विरोध कर चुके हैं। इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री की ओर से बुलाई गई बैठक में भाग नहीं लेने की जानकारी दी है।

उधर टीआरएस प्रमुख के. चंद्रशेखर राव भी बुधवार की बैठक में भाग नहीं लेंगे। उन्होंने अपनी जगह बेटे और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामा राव को भेजने का फैसला लिया है।

सरकार को संसद के चालू सत्र में घेरने के लिए कांग्रेस ने विपक्षी दलों के साथ मिलकर साझा रणनीति बनाई है। इससे पहले सोनिया गांधी के आवास पर प्रधानमंत्री की ओर से 19 जून को एक राष्ट्र-एक चुनाव के मुद्दे पर बुलाई जाने वाली बैठक को लेकर भी चर्चा हुई।

यूपीए अध्यक्ष और कांग्रेस पार्टी संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुआई में विपक्षी दलों के साथ हुई इस बैठक में लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी, एससीपी नेता सुप्रिया सुुले, नेशनल कांफ्रेस के नेता फारूक अब्दुल्ला, भाकपा नेता डी.राजा, द्रमुक नेता कनीमोरी आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहीं।

हालांकि पार्टी ने अभी इसे लेकर अपना रुख रूख सार्वजनिक नहीं किया है लेकिन सूत्रों के अनुसार अधिकतर विपक्षी दलों की ओर से इसे अव्यावहारिक बताते हुए इसका विरोध किया जाएगा।

Posted By: Navodit Saktawat