नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के छात्रों को केंद्र प्रयोजित छात्रवृत्ति मिलने में आ रही कठिनाइयां जल्द दूर हो जाएंगी। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) मामले का अध्ययन कर रही है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को यह जानकारी दी।

देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले जम्मू-कश्मीर के छात्रों ने छात्रवृत्ति संबंधी दिक्कतों के सिलसिले में पिछले सप्ताह गृह मंत्री राजनाथ सिंह और जावड़ेकर से मुलाकात की थी। उन्होंने मामले को जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया था। एचआरडी मंत्री ने कहा, "दुर्भाग्य से वर्ष 2012-13 और 2013-14 के दौरान कुछ लोगों ने इन छात्रों को भ्रमित कर दिया था।

इसके चलते वे उन कॉलेजों तक नहीं पहुंच सके, जिनमें उनका दाखिला हुआ था। इन्हें किसी तरह की कठिनाई नहीं होने दी जाएगी।" केंद्रीय मंत्री ने बताया कि राज्य के छात्रों को चार-पांच तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इनको जल्द सुलझा लिया जाएगा। जावड़ेकर ने इस साल से छात्रवृत्ति प्रणाली को दुरुस्त करने की बात कही है। साथ ही बताया कि प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना के तहत छात्रों के दाखिले में वृद्धि हुई है।

Posted By: