हरिद्वार। अखाड़ों में अक्सर विवाद की स्थितियां बन जाती हैं। एक ओर जहां सिंहस्थ 2016 में कथित साधु संतों को आपसी विवाद खुलकर सामने आए थे वहीं प्रयागराज कुंभ में भी इनके बीच कथित रुप से विवाद हुए थे। अब जानकारी सामने आई है कि, श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल की हरिद्वार के पास एक्कड़ शाखा की संपत्ति पर कब्जे को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया है।

विवाद इतना गहरा गया है कि, समझौते के लिए अखाड़े की आमसभा में ही निर्णय लिया जाएगा। विवाद के दौरान श्रीमहंत ज्ञानदेव सिह ने कहा कि यह संपत्ति अखाड़े की है, लेकिन भूमाफिया इसे कब्जाने की नीयत से आश्रम में डेरा डाले हुए हैं। दूसरी ओर महंत श्री प्रेमदास का कहना था कि, अखाड़ा उन्हें नियम विरुद्ध हटाना चाहता है। वह ऐसा नहीं होने देंगे। हालांकि विवाद के बाद पुलिस और प्रशासन ने हस्तक्षेप कर मामला सुलझाने का प्रयास किया लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

जिसके बाद एहतियातन क्षेत्र में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। सारा मामला अखाड़े की एक्कड़ कला स्थित संपत्ति को लेकर हुआ है। अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत ज्ञानदेव ने आरोप लगाते हुए कहा है किमहंत श्री प्रेमदास, आश्रम की संपत्ति पर कब्जा करना चाहते हैं लेकिन अखाड़े की संपत्ति में उनका अधिकार नहीं है। इसे समाप्त किया जाना चाहिए। जबकि इस तरह का आरोप लगने के बाद महंत प्रेमदास के समर्थक एक्कड़ कलां शाखा पहुंचे और उन्होंने विरोध जताया।