पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने राज्‍य में विधानसभा चुनाव को टालने का अनुरोध किया है। इसके लिए उन्‍होंने चुनाव आयोग को पत्र लिखा है। उन्‍होंने कहा कि 14 फरवरी को होने वाले को स्‍थगित कर दिया जाए और इसे कम से कम छह दिन के लिए टाला जाए। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने 13 जनवरी को मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखकर यह अनुरोध किया था। उन्‍होंने पत्र में लिखा है ' 16 फरवरी कोो गुरु रविदास जयंती के मद्देनजर राज्य के अनुसूचित जाति समुदाय के कई लोगों के वाराणसी आने की संभावना कम से कम छह दिनों के लिए 14 फरवरी के राज्य विधानसभा चुनाव को स्थगित कर दें।'

86 उम्मीदवाराें की पहली सूची जारी

इससे पहले कांग्रेस ने शनिवार काे 86 उम्मीदवाराें की पहली सूची जारी कर दी है। लुधियाना की 14 में से 9 सीटों पर उम्मीदवार घाेषित कर दिए है। हालांकि अभी जगराओं, गिल, समराला, साहनेवाल व लुधियाना दक्षिण में प्रत्याशी घोषित नहीं किए गए हैं। समराला में अमरीक सिंह ढिल्लो का परिवार एकमात्र मजबूत दावेदार है, उनका टिकट घोषित नहीं होना हैरानीजनक है।

पार्टी ने खन्ना से गुरकीरत काेटली, लुधियाना ईस्ट से संजय तलवाड़, आत्मनगर से कंवलजीत सिंह कड़वाल, लुधियाना सेंट्रल से सुरिंदर डावर, लुधियाना वेस्ट से भारत भूषण आशु, लुधियाना नार्थ से राकेश पांडे, पायल (एससी) से लखविंदर सिंह लक्खा, दाखा से कैप्टन संदीप संधू और रायकाेट (एससी) से कामिल अमर सिंह काे मैदान में उतारा है।

खन्ना से गुरकीरत सिंह कोटली लगातार तीसरी बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। पिछले दोनों चुनावों में उन्होंने जीत हासिल की है। वे पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री भी हैं। 2012 में उन्होंने अकाली दल के रणजीत सिंह तलवंडी को हराया। 2017 में तिकोने मुकाबले में आप के अनिल दत्त फल्ली को हराया। खन्ना में इस बार चौकोना मुकाबला होने की संभावना है। 2017 में अकाली दल के रणजीत सिंह तलवंडी तीसरे स्थान पर रहे थे।

Posted By: Navodit Saktawat