नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार के सदमे से उबरने में जुटी कांग्रेस के लिए सुकून देने वाली खबर है। पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने पर अड़े राहुल गांधी अब कुछ सक्रिय हुए हैं। खबर है कि राहुल ने पार्टी के बड़े नेताओं से मेल-मुलाकातों का दौर शुरू कर दिया है। ये संकेत हैं कि राहुल अपनी सियासी सक्रियता जारी रखेंगे, चाहे अध्यक्ष न रहें। अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद भी कांग्रेस की राजनीतिक लड़ाई में उनकी सक्रिय भूमिका कम नहीं होगी।

बता दें, लोकसभा चुनाव की हार के बाद कार्यसमिति की बैठक में राहुल ने इस्तीफे की पेशकश कर दी थी। इतना ही नहीं, राहुल ने पार्टी नेताओं से मिलना-जुलना भी लगभग बंद कर दिया था, लेकिन बीते 3-4 दिन से उन्होंने राज्यों के नेताओं के साथ बैठकों का दौर शुरू किया है। दो दिन पहले छत्तीसगढ के कांग्रेस नेताओं के साथ उनकी बैठक हुई थी। इसके बाद केरल के नेता भी उनसे मिले। अब 27 जून को हरियाणा और 28 जून को दिल्ली के पार्टी नेताओं के साथ राहुल की बैठक है। हरियाणा में पार्टी के अंदर जबरदस्त कलह चल रही है।

बहरहाल, राहुल के इस्तीफे के ऐलान के बाद से कांग्रेस में खलबली मची है। कांग्रेस के तमाम नेता राहुल पर अध्यक्ष पद नहीं छोड़ने का दबाव डाल रहे हैं। हालांकि राहुल साफ कह चुके हैं कि पार्टी को नए अध्यक्ष का विकल्प जल्द से जल्द तलाश लेना चाहिए।

Posted By: Arvind Dubey

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close