संसद के बजट सत्र के दौरान सोमवार को शून्यकाल के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के बीच बहस हो गई। सदन में राहुल गांधी ने बैंक डिफॉल्टर्स को लेकर सवाल उठाया था और उसके बाद अनुराग ठाकुर ने उन्हें जो जवाब दिया वो उन्हें पसंद नहीं आया। इसके बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए सदन में बोलने की आजादी का हनन हुआ है। उन्होंने स्पीकर पर भी आरोप लगाए कि उन्होंने उनका साथ नहीं दिया।

जानकारी के अनुसार, सदन में शून्यकाल के दौरान राहुल गांधी ने सवाल पूछा कि देश की अर्थव्यवस्था बुरे दौर से गुजर रही है और हमारी बैंकिं व्यवस्था काम नहीं कर रही है। मौजूदा हालात में और भी बैंक डूब सकते हैं और ऐसे में सरकार उन 500 विलफुल डिफॉल्टर्स के नाम बताएं जो पैसे लेकर भाग गए।

इसके जवाब में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सदन में कहा कि विलफुल डिफॉल्टर्स की लिस्ट वेबसाइट पर उपलब्ध है और इसमें छिपाने जैसा कुछ भी नहीं है। यह सारे लोग पैसे लेकर कांग्रेस से शासनकाल में बाग गए। सदन के वरिष्ठ सदस्य द्वारा उठाए गए सवाल में इस विषय के बारे में उनके अधूरे ज्ञान को बताता है।

ठाकुर ने आगे कहा कि 25 लाख से ज्यादा रकम वाले डिफॉल्टर्स की लिस्ट अगर आप चाहते हैं मैं पढ़ूं तो पढ़ सकता हूं। मोदी सरकार ने कानून बनाया और 4 लाख करोड़ से ज्यादा रकम वापस देश में आई। हमारी सरकार ने उनकी प्रॉपर्टी भी जब्त की है।

इसके बाद सदन से बाहर आए राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि मैंने 500 डिफॉल्टर्स के बारे में पूछा था लेकिन जवाब नहीं मिला। जो सबसे ज्यादा दुखद था वो यह था कि स्पीकर ने भी मुझे दूसरा सवाल पूछने की मंजूरी नहीं दी। यह संसद के सदस्य के तौर पर मेरा अधिकार है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना