लंदन । कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार 21 मई को कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में "आइडियाज फॉर इंडिया" सम्मेलन में यूक्रेन की तुलना भारत के लद्दाख और डोकलाम करके नया विवाद खड़ा कर दिया। इस कार्यक्रम में राहुल ने कहा कि दोनों जगह चीन की सेना भारत की सीमा के अंदर बैठी है, चीन अगर वहां निर्माण कर रहा है तो किसी तैयारी के लिए कर रहा है लेकिन सरकार इस पर बात नहीं करती। इसके अलावा भी राहुल सरकार ने इस कार्यक्रम में केंद्र सरकार को निशाना साधा तो भाजपा भड़क गई है। केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि कि आपराधिक साजिश के तहत ही ऐसा बयान दिया जा सकता है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि राहुल गांधी दुनिया में भारत को बदनाम कर रहे हैं। भाजपा ने कहा है कि विदेश में भारत को बदनामी करना गांधी परिवार का असली चरित्र है।

भारत की स्थिति अच्छी नहीं

राहुल गांधी ने कहा कि फिलहाल भारत अच्छी स्थिति में नहीं है। भारतीय जनता पार्टी ने पूरे देश में मिट्टी का तेल फैला दिया है। आपको एक चिंगारी चाहिए और हम बड़ी मुसीबत में पड़ जाएंगे। मुझे लगता है कि यह विपक्ष की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोगों, समुदायों, राज्यों और धर्मों को एक साथ लाने का काम कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि हमें इस तापमान को कम करने की जरूरत है क्योंकि अगर यह तापमान ठंडा नहीं हुआ तो चीजें गलत हो सकती हैं।

कांग्रेस क्यों हारती है, राहुल ने दिया ये जवाब

भाजपा की लगातार जीत पर जब राहुल गांधी से सवाल किया गया तो राहुल गांधी ने कहा कि हमें और अधिक आक्रामक रूप से उन 60-70 फीसदी लोगों के पास जाने की जरूरत है, जो भाजपा को वोट नहीं देते हैं और हमें इसे एक साथ करने की जरूरत है।

मीडिया पर नियंत्रण खतरनाक

लंदन में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि मुझे लगता है कि एक कंपनी के लिए सभी हवाई अड्डों, सभी बंदरगाहों, सभी बुनियादी ढांचे को नियंत्रित करना बहुत खतरनाक है। यह (निजी क्षेत्र का एकाधिकार) इस रूप में कभी अस्तित्व में नहीं रहा। सत्ता और पूंजी के इतने बड़े संकेंद्रण के साथ इसका अस्तित्व कभी नहीं रहा। यह एक और पहलू है जो बातचीत का गला घोंट रहा है क्योंकि पूंजी की ताकत से मीडिया का नियंत्रण है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close