Raj Thackeray Pune Rally: महाराष्ट्र की राजनीति में दिलचस्पी रखने वालों की नजर आज पुणे पर रही। यहां महाराष्ट्र नव-निर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने रैली को संबोधित किया। गणेश कला क्रीड़ा मंच में हुए इस कार्यक्रम में राज ठाकरे ने अपने अयोध्या दौरे के रद्द होने के साथ ही लाउडस्पीकर विवाद और यूसीसी यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड पर अपनी बात रखी। राज ने कहा कि लाउडस्पीकर आंदोलन एक दिन का नहीं है। यह चलता रहेगा। वहीं उन्होंने यूनिफाम सिविल कोड की बात भी कही। साथ ही कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून लाया जाना चाहिए। अपना अयोध्या दौरा रद्द होने पर राज ने कहा कि इससे कई लोग खुश हो गए।

Raj Thackeray Pune Rally: संबोधन की बड़ी बातें

- मैं प्रधानमंत्री जी से अनुरोध करता हूं कि जल्द से जल्द समान नागरिक संहिता लाए, जनसंख्या नियंत्रण पर भी कानून लाए और औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर कर दिया जाए।

- जब मैंने अपने कार्यकर्ताओं को लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाने के लिए कहा, तो राणा दंपत्ति (रवि और नवनीत राणा) ने कहा कि वे मातोश्री में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। क्या मातोश्री एक मस्जिद है? बाद में शिवसैनिकों और राणा दंपत्ति के बीच क्या हुआ, यह तो सभी जानते हैं। राणा दंपत्ति ने संजय राउत के साथ बैठकर लंच किया।

- दो दिन पहले मैंने अपनी अयोध्या यात्रा स्थगित करने के बारे में ट्वीट किया था। मैंने जानबूझकर बयान दिया ताकि सभी को अपनी प्रतिक्रिया देने की अनुमति मिल सके। जो लोग मेरी अयोध्या यात्रा के खिलाफ थे, वे मुझे फंसाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मैंने इस विवाद में नहीं पड़ने का फैसला किया।

Raj Thackeray Pune Rally: पुलिस ने रखी थी ये शर्तें

इस रैली को लेकर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए। रेली से पहले (Raj Thackeray Pune Rally) पुणे पुलिस ने चेतावनी जारी की है। पुणे पुलिस ने कहा है कि राज ठाकरे को अपने संबोधन के जरिए किसी समुदाय का अपमान नहीं करना चाहिए। पुणे पुलिस ने इसके साथ ही कुल 13 शर्तों के साथ आयोजन की अनुमति दी है। सरकारी आदेश में कहा गया है कि उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, Raj Thackeray ने मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकार का मुद्दा सबसे पहले उठाया था। उन्होंने उद्धव ठाकरे सरकार को ये लाउडस्पीकर हटाने की चेतावनी दी थी। कहा था कि ऐसा नहीं हुआ तो उनके लोग मस्जिदों के बाहर लाउडस्पीकर लगाकर हनुमान चालीसा पाठ करेंगे। Raj Thackeray के बयान का राष्ट्रव्यापी असर हुआ। यूपी समेत कई स्थानों पर लाउडस्पीकर के खिलाफ कार्रवाई हुई।

महाराष्ट्र की शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की साझा सरकार की अगुवाई कर कर रहे उद्धव ठाकरे को चिंता है कि Raj Thackeray की बयानबाजी प्रदेश का माहौल बिगाड़ सकती है। बता दें, Raj Thackeray ने अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन करने की बात कही थी, लेकिन अब यह कार्यक्रम रद्द कर दिया गया। माना जा रहा है कि पुणे रैली में अपने संबोधन के कारण Raj Thackeray अयोध्या दौरा रद्द करने का कारण बताएंगे और नई तारीफ का ऐलान भी करेंगे।

Raj Thackeray Pune Rally: पुलिस ने इन शर्तों पर दी अनुमति

  • रैली में भाग लेने वालों को आत्म-अनुशासन का पालन करना चाहिए। आयोजकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे आक्रामक नारे न लगाने दें।
  • सभागार की क्षमता पर उपस्थित लोगों की संख्या को सीमित किया जाना चाहिए और उच्चतम न्यायालय द्वारा निर्धारित शोर मानदंडों का पूरी तरह से पालन किया जाना चाहिए।
  • गणेश कला क्रीड़ा मंच पर होने वाली रैली में किसी भी व्यक्ति को बंदूक, तलवार आदि हथियार ले जाने या प्रदर्शित करने की अनुमति नहीं है।
  • लाउडस्पीकर के प्रयोग से ध्वनि प्रदूषण नियम का उल्लंघन नहीं होना चाहिए

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close